Breaking News उतरप्रदेश छुपा रुस्तम तीर ए नज़र रूप सौंदर्य विधि जगत

Uttar Pradesh : पांच सैकड़ा से अधिक जोड़ों के विवाह में बाधक बना लॉकडाउन

 

संवाददाता दिलीप कुमार :  वैश्विक महामारी कोरोना का दंश इस समय पूरा विश्व झेल रहा है। भारत में भी इस महामारी के चलते लॉकडाउन घोषित किया गया है। इस कारण अप्रैल व मई में होने वाले शादी विवाह के अलावा अन्य मांगलिक कार्य भी लोगों को रद कर दिए हैं। पांच सैकड़ा से अधिक युवाओं के परिणय सूत्र में बंधने में कोरोना सबसे बड़ा बाधक बना है। शादी की तैयारियां जिस तरह से की गई थी वह सब धरी रह गई हैं। लोगां का कहना है कि इस समय कोरोना के खिलाफ जो जंग लड़ी जा रही है। उसमें सभी को अपना सहयोग घर में रहकर ही देना है। शादी विवाद तो आगे भी होते रहहेंगे लेकिन इस संकट की घड़ी सभी को सरकार व प्रशासन का साथ देना है।
अप्रैल व मई में सबसे ज्यादा सहालग हैं। 15 से सहालग की शुरुआत होनी थी। लोगों ने शादियों के लिए काफी पहले से ही मैरिज होम से लेकर हलवाई, बैंड-बाजे व अन्य जरूरी सामानों की बुकिंग करा दी थी। किसी ने यह नहीं सोचा था कि एक वायरस के कारण इतनी गंभीर स्थिति उत्पन्न होगी। जिले में 192 गेस्ट हाउस पंजीकृत हैं। इन सभी में 14 से लेकर दो मई तक की अलग-अलग तारीखों में शादियों की बुकिंग थी लेकिन अब यह सभी बुकिग लोगों ने अपनी स्वेच्छा से कैसिंल कर दी हैं। जिन घरों में युवाओं व युवतियों की शादियां होनी थी उनका कहना है कि नवम्बर दिसम्बर में भी कई अच्छे मुहूर्त हैं अगर सब कुछ अच्छा रहा तो शादी इन्हीं मुहूर्त के अनुसार बाद में की जाएंगी। इस समय देश व उसमें रहने वाले सभी लोगों का पूरी तरह से सुरक्षित रहना काफी जरूरी है।