Etawah News: The whisper of a dangerous cobra was heard instead of music in the music system
Breaking News इटावा उतरप्रदेश

Etawah News: म्यूजिक सिस्टम में संगीत की जगह सुनाई दी खतरनाक कोबरा की फुसकार

संवाददाता महेश कुमार

इटावा: इकदिल थाना क्षेत्र के नगला बढईयन में एक घर के छज्जे में रखे म्यूजिक सिस्टम के वूफर स्पीकर के अंदर छुपा बैठा था एक खतरनाक स्पेक्टिकल कोबरा जिसका सफल रेस्क्यू सर्पमित्र डॉ आशीष द्वारा किया गया। घर के कमरे में बने एक छज्जे पर रख्खे वूफर स्पीकर में एक कोबरा सर्प के छिपे होने की सूचना मिशन स्नेक बाइट डेथ फ्री इंडिया के यूपी कोर्डिनेटर वन्यजीव विशेषज्ञ सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी को स्थानीय ग्रामीण मकान मालिक सौरभ शर्मा द्वारा फोन पर मिली। सूचना मिलते ही वे तत्काल जब वे अकेले ही मौके पर पहुंचे तो देखा कि,घर वाले कि छज्जे पर छिपे उस सर्प को देखकर अज्ञात भय से बेहद ही डरे हुये थे,तब डॉ आशीष ने उस कोबरा सर्प को बिना किसी नुकसान पहुंचाए 5 मिनट से भी कम समय मे ही सुरक्षित पकड़ लिया व उसे ले जाकर उसके प्राकृतवास में छोड़ भी दिया।

Etawah News: The whisper of a dangerous cobra was heard instead of music in the music system

वन्यजीव विशेषज्ञ सर्पमित्र डॉ आशीष ने सर्प के बारे में जानकारी देते हुये बताया कि ये एक बेहद ही खतरनाक स्पेक्टिकल कोबरा सर्प था, जिसमें बेहद जानलेवा न्यूरोटॉक्सिक जहर भी होता है । इसके किसी भी इंसान को काट लेने से मात्र 10 से 20 मिनट में ही उसकी मृत्यु हो जाती है। उन्होंने जनपद की जनता से निवेदन किया है कि,जनपद में किसी भी सर्प, जैसे कोबरा ,करैत या रसल वाइपर के दंश से पीड़ित होने पर किसी भी व्यक्ति को सही समय पर उपचार न मिलने पर उसकी मृत्यु भी हो सकती है, अतः कभी किसी को कोबरा ,करैत सर्प की बाइट (सर्पदंश) हो जाये तो किसी भी झाड़ फूंक कर ढाक बजाने वाले ढोंगी या किसी सरसों पढ़कर फेंकने वाले तांत्रिक या ओझा के पास बिल्कुल भी न जायें। कृपया तत्काल ही बिना कोई समय गंवाये ही उस पीड़ित व्यक्ति या महिला को जनपद के इमरजेंसी वार्ड ले जाकर भर्ती करायें, वहाँ सभी जरूरी एंटीवेनम इंजेक्शन मौजूद है। साथ ही निवेदन है कि, रात्रि के समय में या दिन में भी कहीं भी अंधेरे में जाते समय सभी को बेहद ही सावधान रहने की भी आवश्यकता है कृपया घर मे पुराना समान रखे हुये एरिया में या घर के बाहर कहीं भी जाये तो हमेशा जूते पहनकर व टोर्च लेकर ही जायें। हाल ही में जनपद में कोबरा व करैत बाइट से सही समय पर सही इलाज न मिलने पर दो से तीन लोगों की असमय मौत भी हो चुकी है ।

जनपद इटावा में सर्पमित्र डॉ आशीष त्रिपाठी के द्वारा लोगो को लगातार जागरूक करने का अब इतना ज्यादा असर हो चुका है कि, लोगो ने सर्पों को बिल्कुल मारना ही छोड़ दिया है अब ज्यादातर शहरी व ग्रामीण क्षेत्र के लोग लगातार कॉल कर संस्था ओशन के महासचिव सर्पमित्र डॉ आशीष को 7017204213 पर किसी भी प्रकार के सर्प के निकलने की सूचना देने लगे है।