Azamgarh Atraulia area Budhanpur animal-laden truck collided with divider, killing ten
Breaking News आज़मगढ़ उतरप्रदेश

आजमगढ़ अतरौलिया क्षेत्र बुढ़नपुर पशुओं से लदा ट्रक डिवाइडर से टकराया दस की मौके पर मौत

संवाददाता रवीन्द्र नाथ गुप्ता आजमगढ़ । अतरौलिया थाना क्षेत्र के बुढ़नपुर चौक पर बीती रात करीब 2:00 बजे के लगभग पशु लदा ट्रक डिवाइडर से टकरा गया, जिसमें ट्रक का अगला हिस्सा क्षतिग्रस्त हो करके के टकरा गई, इसके बाद मौका पाकर ड्राइवर और खलासी अपनी जान बचाकर मौके से फरार हो गए।

Azamgarh Atraulia area Budhanpur animal-laden truck collided with divider, killing ten

स्थानीय बाजार के दुकानदारों ने इसकी सूचना पुलिस  को दी, वहीं अखिल भारत हिंदू महासभा के मंडल अध्यक्ष विनीत रंजन अपने पदाधिकारियों के साथ मौके पर पहुंचकर घायल पशुओं को बचाने के लिए लोगों के सहयोग से पशुओं को बाहर निकाला, क्षेत्राधिकारी महेंद्र कुमार शुक्ला ने बताया कि यह ट्रक सुल्तानपुर जिले की है, 2:57 बजे पर टोल बैरियर पर फुटेज देखने पर पता चला कि आलू और भूसी के बोरे के बीच में जानवर छिपाए हुए थे, गाड़ी चारों तरफ से पूरी तरह ढकी हुई थी, गौ तस्करी का पूरा मामला है, गाड़ी मालिक के खिलाफ उचित धाराओं में मुकदमा पंजीकृत का वैधानिक कार्यवाही की जा रही है, लेकिन पशु तस्करों के बारे में कुछ नहीं कहा जा सकता।

पशु तस्करों द्वारा ट्रक पर अवैध रूप से 25 पशुओं को लादकर उसके ऊपर आलू तथा भूसी के बोरे लादकर पशु तस्कर फैजाबाद से आजमगढ़ की तरह जा रहे थे, खलासी और ड्राइवर के आपसी विवाद के चलते ट्रक बुढ़नपुर चौक पर डिवाइडर में जा टकराई, जिसमें ट्रक पूरी तरह से क्षतिग्रस्त हो गई ।क्षतिग्रस्त ट्रक देखकर ड्राइवर और खलासी मौके से फरार हो गए, छानबीन करने पर देखा गया कि ट्रक के अंदर 25 पशु थे जिसमें से 10 पशुओं की मौके पर ही मौत हो गई, शेष पशुओं को हुसेपुर गौशाला में भेज दिया गया, पशु तस्कर पशुओं को भूसी और आलू के बीच में लादकर ले जा रहे थे, जिससे यह पता ना चल सके इसमें पशु जा रहे हैं, आलू और भूसी के सहारे बड़े आसानी से पशु तस्कर पशुओं को गोकशी के लिए ले जा रहे थे, मरे पशुओं को स्वास्थ्य टीम द्वारा पीएम करवा कर जमीन में गड्ढा खोदकर दफना दिया गया, इस मौके पर अखिल भारत हिंदू महासभा के जिला अध्यक्ष संजीव कुमार सिंह, संतोष कुमार सिंह, अरविंद कुमार सिंह ,गिरिजेश वर्मा, चौकी इंचार्ज लाल बहादुर बिंद ,कांस्टेबल वीरेंद्र यादव ,रमेश यादव, दिनेश यादव, सुरेश यादव सहित अनेक अधिकारी कर्मचारी मौजूद रहे