Agra News: बाढ़ पीड़ितों की मदद को फिर बढ़ाए मेड सोसाइटी ने हाथ
Breaking News आगरा उतरप्रदेश

Agra News: बाढ़ पीड़ितों की मदद को फिर बढ़ाए मेड सोसाइटी ने हाथ

संवाद जनवाद टाइम्स न्यूज

जैतपुर: मध्यप्रदेश में भारी बारिश के चलते और राजस्थान के कोटा बैराज से पानी छोड़े जाने के बाद चंबल नदी में बाढ़ आ गयी है जिससे उत्तर प्रदेश सीमा में बाह तहसील लगभग 40 गांव बाढ़ से ग्रस्त हैं जिनमें कई गांव में पानी भर चुका है और लोग गांव से पलायन कर दूसरे स्थानों पर जा रहे हैं। वहीं कई गांव ऐसे हैं जहां लोग अभी फंसे हुए हैं उन्हें प्रशासन के कर्मचारी सुरक्षित स्थानों पर पहुंचाने में लगे हुए हैं।

 

 

Agra News: बाढ़ पीड़ितों की मदद को फिर बढ़ाए मेड सोसाइटी ने हाथमुश्किल हालातों को देखते हुए समाज सेवी संस्थाएं भी बाढ़ पीड़ितों की मदद के लिए आगे आए हैं उन्हीं में से कस्बा जैतपुर की सामाजिक संस्था मेक ए डिफरेंट सोसाइटी ने भी बाढ़ पीड़ितों के लिए अपने हाथ बढ़ा दिए हैं। संस्था के लोग बाढ़ पीड़ित क्षेत्रों में जाकर पीड़ितों को राशन, दवाइयां व दैनिक जरुरतों के सामान मुहैया करा रहे हैं। संस्था के लोग दिन रात बाढ़ ग्रस्त क्षेत्रों में मदद के लिए जुटे हुए हैं। आपको बता दें कि इस समय वाह क्षेत्र के रानीपुरा, भटपुरा, गोहरा, उमरेठा,पुरा शिव लाल,खेरा राठौर आदि लगभग 40 गांव बाढ़ से ग्रस्त हैं। लोग बाढ़ के चलते पलायन को मजबूर हैं वहीं गावँ में फंसे हुए लोग खुले आसमान के नीचे जीवन गुजारने को मजबूर हैं। हालात विपरीत होने के चलते ग्रामीण शासन प्रशासन से मदद की गुहार लगा रहे हैं शासन प्रशासन द्वारा मदद पहुंचाई भी जा रही है लेकिन समाज सेवी संस्था भी लोगों की मदद के लिए पूरी तरीके से तत्पर है।

 

Agra News: बाढ़ पीड़ितों की मदद को फिर बढ़ाए मेड सोसाइटी ने हाथ विदित हो कि पूर्व में भी मेक ए डिफरेंट सोसाइटी ने 2019 में क्षेत्र में आई बाढ़ के दौरान बाढ़ प्रभावित गांवो में जाकर ग्रामीणों को खाने पीने का सामान, दवाइयां आदि दैनिक जीवन से संबंधित वस्तुएं मुहैया कराई थी और खाने के पैकेट भी वितरित किए थे। इस बार भी बाढ़ के आ जाने के बाद यह संस्था लोगों की सेवा के लिए जुट गई है और इस संस्था से जुड़े हुए समाजसेवी अपने और अपने परिवार की चिंता को छोड़कर पीड़ितों की मदद के लिए दिन-रात जुटे हुए हैं। वहीं संस्था के लोगों का कहना है कि कोई भी पीड़ित उनकी संस्था को फोन कर मदद मांग सकता है और संस्था हर समय मददगार को मदद उपलब्ध कराने के लिए तत्पर है ।

Facebook Notice for EU! You need to login to view and post FB Comments!