संभल न्यूज़:हिंदू जागृति मंच प्रधानमंत्री को लिखेगा 1100 धन्यवाद पत्र
Breaking News उतरप्रदेश सम्भल

संभल न्यूज़:हिंदू जागृति मंच प्रधानमंत्री को लिखेगा 1100 धन्यवाद पत्र

भूपेन्द्र सिंह संवाददाता

संभल:वीर बाल दिवस मनाने की घोषणा का स्वागत करते हुए हिंदू जागृति मंच प्रधानमंत्री के लिए 11 सौ पोस्ट कार्ड लिखकर प्रधानमंत्री को धन्यवाद प्रेषित करेगा।
ज्ञान दीप मंदिर दुर्गा कॉलोनी में आयोजित बैठक में हिंदू जागृति मंच ने सर्वसम्मति से निर्णय लिया कि प्रधानमंत्री द्वारा वीर बाल दिवस मनाने की घोषणा का स्वागत एवं धन्यवाद 1100 पोस्टकार्ड लिखकर किया जाएगा। श्याम शरण शर्मा ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने सिख समाज की बहुत पुरानी मांग को स्वीकारते हुए गुरु गोविंद सिंह के चार साहिबजादों के बलिदान को हमेशा स्मरण करने की जरूरत को स्वीकार किया और 26 दिसंबर को वीर बाल दिवस मनाने की घोषणा की। यह स्वागत योग्य कदम है। इसका समाज के द्वारा धन्यवाद ज्ञापित होना ही चाहिए। सुबोध कुमार गुप्ता ने कहा कि कल मंगलवार को संध्या समय गुरुद्वारा में सामूहिक रुप से पोस्टकार्ड पर प्रधानमंत्री को धन्यवाद लिखकर और अपने विचारों को साझा करते हुए आभार एवं कृतज्ञता पत्र लिखे जाएंगे।

 

 

 

 

संभल न्यूज़:हिंदू जागृति मंच प्रधानमंत्री को लिखेगा 1100 धन्यवाद पत्र

उसके बाद छोटे बड़े अनेक कार्यक्रम आयोजित करके 1100 पोस्टकार्ड 1100 संभ्रांत जनों के माध्यम से उनके हस्त लेखन के द्वारा प्रधानमंत्री को पोस्टकार्ड लिखकर वीर बाल दिवस की घोषणा करने पर धन्यवाद लिखकर भेजा जाएगा।

 

 

 

संभल न्यूज़:हिंदू जागृति मंच प्रधानमंत्री को लिखेगा 1100 धन्यवाद पत्र

विकास कुमार वर्मा, अतुल कुमार शर्मा, सुमन कुमार वर्मा, विनोद कुमार अग्रवाल, शलभ रस्तोगी, नवनीत कुमार, अरुण कुमार अग्रवाल, अजय गुप्ता सर्राफ, अजय कुमार शर्मा, वैभव गुप्ता, राम राज भण्डूला, सुभाष चंद्र मोंगिया, सरदार रंजीत सिंह, अतुल कुमार शर्मा, ज्ञान प्रकाश उपाध्याय, भरत मिश्रा आदि ने समाज के भिन्न-भिन्न संगठनों के माध्यम से, संभ्रांत जनों के द्वारा, संवेदनशील और जागरूक समाज के सदस्यों द्वारा पोस्टकार्ड लिखने का सघन अभियान चलाकर प्रधानमंत्री के प्रति कृतज्ञता ज्ञापित करते हुए वीर बाल दिवस मनाने की घोषणा का स्वागत करते हुए धन्यवाद पत्र लिखवाने की जिम्मेदारी ली। बैठक की अध्यक्षता सरदार कुलबीर सिंह ने की तथा संचालन रमेश छाबड़ा ने किया।