Breaking News Latest News live Updates Head line Hindi News Channel India News National News-Janvad Times, Hindi News latest News in Hindi Breaking News हिंदी समाचार- जनवाद टाइम्स , latest News- News Today Uttar Pradesh India National News Video live News-Janvad Times , Live Latest Breaking News Updates Today India News Channel Janvad Times , Breakings News- Hindi Samachar(हिंदी समाचार) -Janvad Times , Live Updates latest News Uttar Pradesh-Janvad Times , Hindi News हिंदी समाचार Breaking News latest live Khabar Head lines Updates , latest - India News in Hindi Breaking National News Janvad Times , latest News Breaking Nation News World News - Janvad Times ,Janvad Times: Pratapgarh, Agra, Uttar Pradesh News in Hindi,Latest Delhi News, Uttar Pradesh News, Agra News, Pratapgarh , Etawah News in Hindi Reports, Videos and Photos, Breaking News, Live Coverage of UP on Janvad Times.
Breaking News

कहानी : ख्याब

कहानी : ख्वाब

जया मोहन प्रयागराज

Breaking News Latest News live Updates Head line Hindi News Channel India News National News-Janvad Times, Hindi News latest News in Hindi Breaking News हिंदी समाचार- जनवाद टाइम्स , latest News- News Today Uttar Pradesh India National News Video live News-Janvad Times , Live Latest Breaking News Updates Today India News Channel Janvad Times , Breakings News- Hindi Samachar(हिंदी समाचार) -Janvad Times , Live Updates latest News Uttar Pradesh-Janvad Times , Hindi News हिंदी समाचार Breaking News latest live Khabar Head lines Updates , latest - India News in Hindi Breaking National News Janvad Times , latest News Breaking Nation News World News - Janvad Times ,Janvad Times: Pratapgarh, Agra, Uttar Pradesh News in Hindi,Latest Delhi News, Uttar Pradesh News, Agra News, Pratapgarh , Etawah News in Hindi Reports, Videos and Photos, Breaking News, Live Coverage of UP on Janvad Times.

सपने जींवन की वो अनमोल चीज है जो हर कोई बेदाम देख सकता है।इसमें अमीर गरीब का भेद भाव नही होता कोई सीमा निर्धारित नही होती।अंतर्मन की छुपी कामना भले ही कुछ समय का सुकू दे पर शयन के उन पलों को रंगीन कर जाती है।कहते है बार बार उसी ख्वाब को देखने पर ईश्वर भी देने को मजबूर हो जाता है।अनाथ रामू किताबो की दुकान पर काम करता था। वहाँ शिक्षा से संबंधित किताबें बिकती थी।उसे पढ़ने की लगन थी।खाली समय मे वह उन्हें पढ़ता सोचता क्या कभी मैं भी कुछ बन पाऊँगा।यह काम मालिक की नज़र बचा करता।एक दिन सेठ जी अचानक आ गए ।रामू हड़बड़ा कर किताब छुपाते हुए खड़ा हुआ।क्या हुआ रामू क्या छिपा रहे हो।जी जी कुछ नही।दिखाओ तो सही।डरते हुए रामू ने किताब दिखा दी।तुम पढ़ना चाहते हो।जी।मैं कल ही तुम्हारे पढ़ने की व्यवस्था करता हूँ।सच मे।हाँ हाँ।रामू तो खुशी से झूम उठा।प्रभु आप कितने दयालु हो मेरे सपने को पूरा कर रहे हो।रामू पढ़ने लगा ।उसकी बुद्धि के कायल शिक्षक भी हो गए ।सेठ जी की मदद व रामू की मेहनत रंग लाई।रामू पी सी एस अधिकारी में चयनित हुआ।सेठ जी के चरण छूते हुए बोला आप ने मदद न कि होती तो मेरा ख्वाब अधूरा रहता।हँसते हुए सेठ जी बोले आधार तो लक्ष्य का तुमने बनाया मैंने तो केवल रंग भर दिया।तुम मिसाल हो उन लोगो के लिए जो समर्थ हो कर भी खुद की दिशा निर्धारित करने वाले सपने नही देखते।किस्मत के भरोसे रहते है।

 

Facebook Notice for EU! You need to login to view and post FB Comments!