Today the police disclosed the murder of Azamgarh Pradhan's cousin under the conspiracy
Breaking News आज़मगढ़

आजमगढ़ प्रधान के चचेरे देवर की साजिश के तहत हत्या का आज पुलिस ने किया खुलासा

संवाददाता रवीन्द्र नाथ गुप्ता : आजमगढ़ में दो दिन पूर्व प्रधान के चचेरे देवर की चाकू से गोदकर हत्या कर फेंकने की घटना में पुलिस ने आज खुलासा कर दिया। पैसे के लेन देन को लेकर दोस्तों ने ही युवक को मौत के घाट उतारा था। पुलिस अधीक्षक आजमगढ़ ने बताया कि मृतक सूद पर पैसे को देने का काम करता था। उसके साथियों ने ही उससे लाखों रुपए सूद पर लिए थे जिसे लौटाना नहीं चाह रहे थे। इसी को लेकर 5 लोगों ने कार से दावत खिलाने ले जाने की साजिश रच कर कार में ही हत्या कर उसको सड़क किनारे फेंक कर भाग गए थे। पुलिस ने दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। हत्या में प्रयुक्त चाकू के साथ ही मृतक का टोपी व बाइक बरामद की गई है।

Today the police disclosed the murder of Azamgarh Pradhan's cousin under the conspiracy

इसके अलावा कार को भी कब्जे में ले लिया गया है। दीदारगंज थाना क्षेत्र के सुरहन गांव का रहने वाला राकेश सिंह ब्याज पर पैसे बांटने का काम करता था जिसकी धारदार हथियारों से हत्या कर दी गई थी। राकेश का शव मार्टिनगंज दीदारगंज रोड पर कटिया पूरा गांव के पास सड़क के किनारे मिला था और उसके शरीर पर कई जगह जख्मों के निशान थे। राकेश के भाई की तहरीर पर उसके दोस्त सलीम के खिलाफ मुकदमा दर्ज किया गया था।

पुलिस खोजबीन में जुटी थी। इसी दौरान पता चला कि पैसों के विवाद में साथ रहने वाले सलीम व 4 अन्य व्यक्तियों ने मिल कर की हत्या कर दी। पुलिस ने 2 आरोपियों सलीम व धर्मेंद्र सिंह को गिरफ्तार कर लिया है। जबकि अनन्त राय, सत्यम राय व राधेश्याम यादव की तलाश की जा रही है। सलीम व अनन्त राय ने 6 लाख व धर्मेंद्र सिंह ने अपनी बहन की शादी के लिए 3 लाख लिए थे।