Breaking News इटावा उतरप्रदेश

Etawah News: जिले की बेटी ने असिस्टेंट प्रोफेसर की पात्रता के लिए 96.80 प्रतिशत अंकों के साथ चयनित होकर जिले का नाम किया रोशन

संवाददाता आशीष कुमार

इटावा/जसवंत नगर:  यूजीसी नेट में 96.80 प्रतिशत अंकों के साथ नगर की बेटी को हिन्दी साहित्य विषय में जूनियर रिसर्च फेलोशिप तथा असिस्टेंट प्रोफेसर की पात्रता के लिए चयनित किया गया है। इस सफलता के साथ अपने नगर का नाम रोशन किया है। उसके परिजनों में भी खुशी का माहौल है और कस्बे के लोग उसे बधाई दे रहे हैं। हेमलता ने इससे पूर्व दो बार सीटेट व तीन बार नेट परीक्षा उत्तीर्ण की है।

हेमलता के पिता विशंभर सिंह पाल दो साल पहले ही पीएसी से रिटायर हुए हैं। दर्शनपुरा गांव के मूल निवासी विशंभर परिवार सहित मोहल्ला यादव नगर में रहते हैं। उनके 3 पुत्र व एक पुत्री हेमलता हैं। सभी भाइयों में बड़ी बहन हेमलता का एक भाई बेसिक शिक्षा विभाग में इंचार्ज प्रधानाध्यापक है। छोटा भाई सहायक अध्यापक के रूप में अभी हाल ही में चयनित हुआ है जबकि तीसरा भाई बीएससी कर चुका है। उसकी मां शकुंतला देवी अपनी बेटी पर गर्व कर रही हैं उन्होंने बताया कि उनकी पुत्री हेमलता लंबे समय से प्राइवेट शिक्षिका के रूप में अध्यापन कार्य करती आ रही है।

हेमलता ने बताया कि वह यहां नगर के दो इंटर कॉलेजों में भी पढ़ा चुकी है। दो साल से पूर्व तक वह नवोदय विद्यालय त्रिपुरा मेघालय में अंग्रेजी और हिंदी विषय पढ़ा रही थी। शिक्षाशास्त्र, समाजशास्त्र व हिंदी साहित्य तीन विषयों में परास्नातक करने के बाद फिलहाल डॉ.भीमराव अंबेडकर विश्वविद्यालय आगरा से हिन्दी साहित्य विषय में एमफिल पूर्ण हो रही है। उन्होंने 2015 और 2019 में क्रमशः दो बार सीटेट उत्तीर्ण किया और अब नेट परीक्षा 96.80 प्रतिशत उत्कृष्ट अंकों के साथ उत्तीर्ण की है। पीएचडी कोर्स में इनरोलमेंट के पश्चात जूनियर रिसर्च फैलोशिप की धनराशि ₹25 हजार से ₹ 30 हजार प्रतिमाह सरकार द्वारा दी जाती है जिसके लिए वो पात्र होंगीं। हेमलता की इस सफलता पर क्षेत्र के कई शिक्षाविदों समाजसेवियों व पत्रकारों ने उसे शुभकामनाएं दी हैं।