Breaking News इटावा उतरप्रदेश

Etawah News: कस्बा बसरेहर में पूर्व सैनिक व किसानों का कृषि बिल के विरोध में अनशन।

संवाददाता रिषीपाल सिंह
इटावा के कस्बा बसरेहर में आज सहकारी संघ बसरेहर पर जिला कांग्रेस उपाध्यक्ष रामकुमार सविता के नेतृत्व में कृषि काले कानून के विरोध में अनशन और धरना देकर इस काले कानून को समाप्त करने की मांग भारत सरकार से की वहीं पूर्व सैनिको के समर्थन से उक्त कार्यक्रम में लगभग एक सैकड़ा लोगों ने भाग लिया पूर्व सैनिक सत्य प्रकाश राजपूत ने भारत सरकार के मुखिया माननीय प्रधानमंत्री से कहा कि आज देश का किसान असमंजस में है कि हमारे भूखे प्यासे बच्चे बड़े बुजुर्ग और नौजवान लगभग 25 दिन से इस काले कानून के विरोध में दिल्ली की सड़कों पर सर्द रातें काट रहै है। लेकिन सरकार को किसानों की कोई परवाह नहीं है, किसान ऐसे काले कानून के विरोध में गांव गली मैं भटक रहे है लेकिन सरकार को किसानों को समस्या समाधान करने का वक्त नहीं है वही देश के गृहमंत्री रक्षा मंत्री बंगाल चुनाव में व्यस्त हैं उन्हें किसानों की कोई परवाह नहीं है वही जिला इटावा कांग्रेस उपाध्यक्ष सविता जी ने कहा कि देश का किसान इस काले कानून को स्वीकार नहीं कर रहा है फिर भी प्रधानमंत्री इस काले कानून को लेकर आए दिन जुमलेबाजी कर रहे हैं कहते हैं। एमएसजी समाप्त नहीं की जाएगी उसे कानूनी जामा पहनाने में हिचकी चा रहे हैं, यानी किसानों को अब सरकार पर कोई भरोसा नहीं है श्री सविता ने आगे कहा डीजल की महंगाई, गैस की महंगाई, बिजली की बढ़ी हुई दरें, दिनोदिन बढ़ती महंगाई किसानों की चिंता बढ़ा रही है आम जनमानस जो कृषि पर आश्रित है, छोटे दुकानदार, फेरी करने वाले, रेहड़ी लगाने वाले, या फिर छोटे व्यवसाई हो सब किसान से पलते हैं उन्हीं किसानों के साथ सरकार खिलवाड़ कर रही है पूर्व सैनिक देवेंद्र सिंह राजपूत, पूर्व सैनिक अश्वनी प्रताप सिंह, अभिलाष सिंह ने भी सरकार के हट धर्मी रवैया की आलोचना करते हुए कहा कि कृषि बिल वापस नहीं लिया जाता है तब तक किसान पूर्व सैनिक अब चैन से नहीं बैठेंगे, सरकार हम पूर्व सैनिकों के खिलाफ कठोर से कठोर कार्रवाई अगर करती है उसके लिए भी हम तैयार हैं हम फौज से रिटायर होकर कृषि पर आधारित अपना जीवन काट रहे हैं हम किसानों के साथ हैं साथ रहेंगे शिव सिंह चौहान, विश्राम सिंह राजपूत, ईश्वर प्रताप, बाबा सहदेव सिंह यादव, बिल्लू यादव, अभिषेक कुमार, माधव सिंह, कृष्णा शिवा आदि ने भी सरकार के कृषि विरोधी कानून के खिलाफ अपनी अपनी बात रखी पूर्व सैनिकों ने ऐलान किया की कांग्रेस जिला उपाध्यक्ष रामकुमार सविता के साथ हर न्याय पंचायत स्तर पर कृषि काले कानून के अनशन पर बैठेंगे और सरकार के इस काले कानून कृषि व्यक्ति खामियां आम जनता के बीच में रखेंगे पूर्व सैनिकों ने कहा ऐसी कौन सी आफत और विपत्ति आई कि कोरोना काल में ही कृषि काला कानून विधेयक पास किया जाता है और आनन-फानन में उसे लागू भी किया जाता है न जनता से राय ली गई और ना ही विपक्षी पार्टियों को साथ में लिया गया। जब तक काला कानून वापस नहीं होगा हम आखरी सांस तक पूर्व सैनिक लड़ते रहेंगे।