The daughters of the country are proud - Sonia Sant Kabir
उतरप्रदेश करियर & जॉब

देश की आन बान शान है बेटियां-सोनिया संत कबीर

देश की आन बान शान है बेटियां-सोनिया

राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर राजकीय कन्या इंटर कॉलेज खलीलाबाद संतकबीरनगर की व्यायाम शिक्षिका सोनिया ने बताया कि भारत में हर वर्ष राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जाता है।

The daughters of the country are proud - Sonia Sant Kabir

राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने का उद्देश्य समाज में बालिकाओं को उनके अधिकारों और भेदभाव के प्रति जागरूक करना है। विशेष रुप से बालिकाओं को सशक्त बनाने के लिए भारत में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाया जा रहा है। हर साल 24 जनवरी को राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने की शुरुआत साल 2009 में महिला बाल विकास मंत्रालय ने की थी।

The daughters of the country are proud - Sonia Sant Kabir

24 जनवरी का दिन इसलिए चुना गया क्योंकि इसी दिन साल 1966 में इंदिरा गांधी जी ने भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री के तौर पर शपथ ली थी।
राष्ट्रीय बालिका दिवस देश में लड़कियों को समर्थन नए अवसर प्रदान करता है। यह समाज में लड़कियों के साथ होने वाली असमानता, भेदभाव, शोषण के बारे में लोगों में जागरूकता बढ़ाने के लिए मनाया जाता है ।

यह असमानता शिक्षा ,पोषण ,कानूनी अधिकार, चिकित्सा, देखभाल, सुरक्षा, आदि के संदर्भ में राष्ट्रीय बालिका दिवस मनाने के पीछे भारत सरकार का यह कदम लड़कियों के महत्त्व को बढ़ावा देना है। आज हमारे देश की बेटियां दुनियां के साथ कदम से कदम मिलाकर ऊचे मुकाम हासिल कर रही है। घर ही नहीं दुनिया के हर क्षेत्र में अपनी विशेष भागीदारी निभा रही है। इस दिशा में काम करने वाले लोगों की सराहना सुनिश्चित करने का दिन है कि बेटियों को वह सम्मान और वह अवसर प्राप्त करे।
राष्ट्रीय बालिका दिवस पर हम अपनी बेटी ,देश की बेटी और विभिन्न क्षेत्रों में उनकी उपलब्धि को सलाम करते है।