Breaking News उतरप्रदेश मेरठ

मेरठ न्यूज: थाना जानी पुलिस द्वारा हत्या के प्रयास का झूठा मुकदमा लिखाने वाले तीन अभियुक्तगणो को जेल भेजा।

संवाददाता: मनीष गुप्ता

मेरठ जिले में वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक जनपद मेरठ द्वारा अपराधियो की धर पकड हेतु चलाये गये अभियान व पुलिस अधीक्षक ग्रामीण एवं क्षेत्राधिकारी सरधना मेरठ के निर्देशन में प्रभारी निरीक्षक थाना जानी जनपद मेरठ के नेतृत्व में थाना जानी पुलिस द्वारा 20 अप्रैल को थाना जानी पर अभियुक्त जैली पुत्र जयचन्द निवासी सीकरी खुर्द थाना मोदीनगर गाजियाबाद के द्वारा खुद के साथी आकाश उर्फ शीटू पुत्र विनोद व कन्हैया पुत्र धमवीर व आशू पुत्र महावीर निवासी गण निवासी सीकरी खुर्द थाना मोदीनगर जनपद गाजियाबाद पर अभियुक्तगण दीपक पुत्र प्रदीप, कपिल पुत्र जगदीश, अरुण पुत्र जगदीश, बन्टी उर्फ तरुण पुत्र हरेन्द्र, मोनु पुत्र विकल निवासीगण सीकरी खुर्द थाना मोदीनगर गाजियाबाद द्वारा एक राय होकर जान से मारने की नियत से मुकदमा पंजीकृत कराया गया था। जिसकी विवेचना सुखपाल सिंह द्वारा प्रारम्भ की गयी थी। विवेचना के प्रारम्भ मे ही गवाहो के बयानो मे अस्थिरता होने तथा गवाहो के बयान भिन्न भिन्न होने पर अभियोग उपरोक्त की घटना प्रथम दृष्टया झूठी प्रतीत होने लगी । जिसकी ग्रहण विवेचना पर सुखपाल सिंह, सुर्यदीप सिंह, बिजेन्द्र सिंह, सुधीर कुमार द्वारा सभी गवाहो के बयानो से तथा निरीक्षण घटना स्थल व अन्य साक्ष्यो के आधार पर मुकदमा का सफल अनावरण करते हुये। एक पिस्टल व एक खोखा कारतूस की बरामदगी करते हुये 21 अप्रैल को समय 05:10 बजे गिरफ्तार किया गया। तथा साक्ष्यो व गवाहो के आधार पर ज्ञात हुआ कि मुकदमा को अभियुक्तगण जैली पुत्र जयचन्द, आकाश उर्फ शीटू पुत्र विनोद, कन्हैया पुत्र धमवीर, आशू पुत्र महावीर समस्त निवासीगण सीकरी खुर्द थाना मोदीनगर गाजियाबाद द्वारा जनपद गाजियाबाद के थाना मोदीनगर पर पंजीकृत समझौते का दबाव बनाने के लिए दित्तीय पक्ष के दीपक आदि के विरुद्व झूठी काल्पनिक घटना बना कर लिखवाया गया है । थाना जानी पुलिस द्वारा मुकदमा उपरोक्त की घटना का सफल अनावरण किये जाने पर तथा सत्यता पर अभियुक्तगण आकाश उर्फ शीटू पुत्र विनोद निवासी सीकरी खुर्द थाना मोदीनगर जनपद गाजियाबाद, जैली उर्फ मोहित पुत्र जयचन्द्र निवासी सीकरी खुर्द थाना मोदीनगर जनपद गाजियाबाद की गिरफ्तारी पर थाना जानी पुलिस की भूरि भूरि प्रसन्सा की गयी है । अभियुक्तगणो द्वारा अपने जुर्म का इकबाल किया गया है।