Azam: Journalists Club will hand over memorandum addressed to SP chief by tying black band on March 15, not tolerating attack on journalists
Breaking News आज़मगढ़ उतरप्रदेश

Azam: पत्रकारों पर हमला बर्दाश्त नहीं 15 मार्च को काली पट्टी बांधकर सपा मुखिया को संबोधित ज्ञापन सौंपेगा जर्नलिस्ट क्लब

संवाददाता रवीन्द्र नाथ गुप्ता

आजमगढ़। जर्नलिस्ट क्लब के अध्यक्ष आशुतोष द्विवेदी ने कहा कि पत्रकारों पर हमला बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि मुरादाबाद में सपा के लोगों ने अपने मुखिया की मौजूदगी में जो बहशियाना हरकत की है, वह माफ किए जाने के काबिल नहीं है। शहर के मीडिया हाऊस स्थित जर्नलिस्ट क्लब के कार्यालय में पत्रकारों की बैठक को संबोधित करते हुए श्री द्विवेदी ने कहा कि इस मामले में आर-पार की लड़ाई लड़ी जायेगी तथा आगामी 15 मार्च को दोपहर 12 बजे काली पट्टी बांधकर सपा के जिला कार्यालय के सामने प्रदर्शन करते हुए सपा मुखिया को संबोधित ज्ञापन सपा जिलाध्यक्ष को सौंपकर उनको उनकी गलती का एहसास कराया जायेगा। साथ ही उसी के बाद राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौंपकर घटना के न्यायिक जांच व दोषियों के खिलाफ सुसंगत धाराओं में कार्रवाई किए जाने की मांग की जाएगी। वरिष्ठ पत्रकार खुर्रम आलम नोमानी ने कहा कि सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आजमगढ़ से सांसद हैं। ऐसे में मुरादाबाद में पत्रकारों पर हुए हमले के मामले में आजमगढ में बड़ा प्रदर्शन होगा तथा यह विरोध मुरादाबाद से बलिया तक होगा। क्लब के उपाध्यक्ष विनोद सिंह ने कहा कि मुरादाबाद में सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष की मौजूदगी में पत्रकारों पर किया गया हमला निन्दनीय है। इसका कड़ा विरोध किया जायेगा और यह विरोध अविस्मरणीय होगा। उन्होंने कहा कि इस मामले में कार्रवाई न होने तक सभी राजनैतिक दलों के कार्यक्रमों का विरोध किया जाना चाहिए। वरिष्ठ पत्रकार वसीम अकरम ने कहा कि यह केवल अखिलेश का ही मसला नहीं है। अमूमन यही होता है कि यदि पत्रकार सही सवाल पूछ देता है और वह सवाल जिस राजनैतिक दल के विपरीत होता है, वही पत्रकारों पर सवाल खड़ा कर देता है और पत्रकार के बिके होने की बात कर देता है, पत्रकार के साथ अभद्रता व हमला करता है। ऐसी सोच देश, प्रदेश व लोकतंत्र के लिए ठीक नहीं है। क्लब के सचिव संदीप अस्थाना ने कहा कि सपा हमेशा पत्रकारों का सबसे अधिक सम्मान करती रही है। ऐसे में आजमगढ़ के सांसद व सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव की मौजूदगी में पत्रकारों पर हुुए हमले की जितनी भी निन्दा की जाय, कम होगी। वरिष्ठï पत्रकार रत्नप्रकाश त्रिपाठी ने कहा कि सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव द्वारा मुरादाबाद के पत्रकारों को अपने बाउंसर्स से मरवाना अकल्पनीय व अजीबोगरीब हालात है। ऐसा करवाकर आजमगढ़ के सांसद ने आजमगढ़ को अपमानित किया है। पत्रकार सचिन श्रीवास्तव ने कहा कि भारत के इतिहास में किसी पूर्व मुख्यमंत्री द्वारा इस तरह की हरकत कभी नहीं की गयी थी। यदि यही सब करना है तो राजनैतिक दलों के लोग पत्रकारों को बुलाना बंद कर दें। वह अपने दल के सोसल मीडिया पर अपनी बात डाल दें, जिसको पढऩा व देखना होगा, वह पढ़ व देख लेगा। वरिष्ठï पत्रकार वेदप्रकाश सिंह लल्ला ने कहा कि मुरादाबाद की घटना निन्दनीय है। इस मसले पर जिले के पत्रकारों को ऐसा प्रदर्शन करना चाहिए जो यादगार हो। इसे लेकर सपा जिला कार्यालय के सामने प्रदर्शन करके निन्दा प्रस्ताव भेजा जाना चाहिए। पत्रकार प्रशान्त राय ने कहा कि इस तरह की घटनाओं को रोकने के लिए सभी दलों के लोगों को पत्र भेजा जाना चाहिए। पत्रकार आशुतोष श्रीवास्तव ने कहा कि इस तरह के घटनाओं की जितनी भी निन्दा की जाय वह कम होगी। इस अवसर पर जर्नलिस्ट क्लब के महामंत्री रामसिंह गुड्डु, सौरभ उपाध्याय, चमन अस्थाना, हरीश चौहान, गौरव श्रीवास्तव, रतन प्रकाश श्रीवास्तव, राजेश पाठक, मनीष पाण्डेय, देवेन्द्र मिश्र, नन्दकिशोर यादव आदि लोगों ने भी विचार व्यक्त किए। बैठक का संचालन व आभार ज्ञापन क्लब के संयोजक अरविन्द सिंह ने किया।