Breaking News इटावा उतरप्रदेश

Etawah News: नवगठित निजी विद्यालय प्रबन्धक संगठन ने बेसिक स्कूलों को खोलने के लिए ज्ञापन दिया

संवाददाता आशीष कुमार
इटावा: निजी विद्यालय प्रबंधकों का कहना है कि पूरे प्रदेश में बेसिक शिक्षण कार्य बन्द होने से प्राइवेट विद्यालयों की आर्थिक स्थिति काफी खराब हो गयी है। विद्यालय से सम्बद्ध वाहनों की ईएमआई और विद्युत बिल लगातार जा रहा है। अध्यापन व अन्य कार्यों में लगे लोगों को विद्यालय प्रबन्धन द्वारा वेतन का भुगतान भी किया जा रहा है। जबकि छात्र छात्राओं के विद्यालय आने से रोक के कारण अभिभावक फीस नही दे रहे हैं ऐसी स्थिति में तमाम विवाद उत्पन्न हो रहे हैं। बेसिक शिक्षण कार्य बन्द होने से बच्चों की पढ़ाई भी नही हो पा रही है जिसका मुख्य कारण ग्रामीण अंचलों में एन्ड्रोइड फोन व लैपटॉप व संचार नेटवर्क न होना भी है। स्थानीय विद्यालय प्रबन्धकों ने बेसिक शिक्षण कार्य पुन चालू कराये जाने पर सहमति प्रकट करते हुए ज्ञापन प्रेषित किया है। उनका कहना है कि इण्टर कॉलेज की तरह कोरोना गाइड लाइन व अन्य दिशा -निर्देशों के अंतर्गत दूरी बनाये रखने आदि का पालन कराते हुये बेसिक शिक्षण कार्य पुन शुरू कराया जाए। जिससे निजी विद्यालयों से सम्बन्धित लोग अपनी रोजी- रोटी चला सकें।
राम जानकी विद्या मंदिर, ज्ञान ज्योति विद्या मंदिर, देवी भोज ईश्वरी उच्चतर माध्यमिक विद्यालय, श्री कृष्ण जूनियर हाई स्कूल, एरिस्टोटल वर्ल्ड स्कूल, पीटर सीनियर सेकेंडरी स्कूल, धनीराम शाक्य इंटर कॉलेज, सुदिति ग्लोबल एकेडमी, चौधरी पुत्तू लाल इंटर कॉलेज, सरस्वती ज्ञान मंदिर, मदर्स प्राइड एजुकेशनल एकेडमी, श्री कृष्ण जूनियर हाई स्कूल, शारदा पब्लिक हाई स्कूल, राधा गोविंद पब्लिक स्कूल इत्यादि के प्रबंधक या प्रतिनिधि शामिल रहे।