Breaking News उतरप्रदेश सम्भल

Bihar News: हज़रत मौलाना वली रहमानी साहब के लिए तज़ियाती कार्यक्रम का हुआ आयोजन।

मंटू राय संवाददाता

अररिया – ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड के महासचिव और इमारते शरिया बिहार उड़ीसा झारखंड के सदर हज़रत मौलाना मुहम्मद वली रहमानी के निधन पर मदरसा हबीबीया तालीमुल कुरआन महिषाकोल के प्रांगण में ताज़याती कार्यक्रम का आयोजन किया गया।

कार्यक्रम का अध्यक्षता करते हुए मदरसा सदर मोहम्मद अवेश यासीन ने गहरा दुख व्यक्त करते हुए कहा कि देश की समस्याओं को हल करने और शिक्षा के प्रचार-प्रसार में मौलाना की सेवाएं अद्वितीय हैं।श्री यासीन ने कहा कि मौलाना रहमानी के द्वारा किए गए क्रियाकलापों को हर पल याद किया जाएगा और उनके पदचिन्हों पर चलते हुए उनके सपनों को साकार करना हम सब की जिम्मेदारी है। उनकी मृत्यु से जो क्षति हुई है उसका पूर्ति संभव नहीं है ।

कार्यक्रम के मुख्य अतिथि व अररिया जिला इमारते शरिया के मुख्य क़ाज़ी हज़रत मौलाना अतीकुल्लाह रहमानी साहब ने दुआ की। हज़रत अतीकुल्लाह रहमानी ने संबोधन करते हुए बताया कि वली रहमानी ने 1996 में शैक्षिक और कल्याणकारी सेवाओं के लिए मुंगेर (बिहार) में रहमानी फाउंडेशन की स्थापना की और कमजोर वर्ग के छात्रों को आईआईटी-जेईई की तैयारी में मदद करने के लिए 2008 में रहमानी-30 की शुरूआत की। वर्तमान में रहमानी प्रोग्राम आफ एक्सीलेंस से फायदा उठा कर सेंकड़ों बच्चे इंजीनियरिंग, मेडिकल, चार्टर्ड अकाउंटेंसी आदि के प्रमुख शिक्षण संस्थानों में पढ़ रहे हैं।

इस मौके पर युवा समाजिक कार्यकर्ता फैसल जावेद यासीन ने संबोधन करते हुए कहा कि मौलाना वली रहमानी साहब के समाजिक ख़िदमात को भुलाया नहीं जा सकता है उनके द्वारा स्थापित रहमानी-30 का ही देन है कि अररिया जिला के सुदृढ़ गांव महिषाकोल का दो छात्र आसानी से लाभान्वित होकर आईआईटी कर सका है।
इस मौके पर मौलाना दाऊद, आफताब फिरोज़, मौलाना इमरान, मौलाना रिज़वान, मास्टर नसीम, जाहिद अनवर, मोहम्मद हासिम, मौलाना तबरेज़,मो शोएब आलम, मुफ्ती मुर्तजा, अब्दुल बारीक,ऐस नोमानी, मनौव्वर हुसैन सहित सैकड़ों ग्रामीण उपस्थित थे।