Breaking News बिहार

Bihar News: पातेपुर के गोविंद पुर बेला गांव मे सिरत ए मुस्तफा कांफ्रेंस का हूआ आयोजन

संवाददाता-राजेन्द्र कुमार

हाजीपुर वैशाली।पातेपुर-हजरत मुहम्मद सलल्लाहु अलैह वसल्लम की एक मशहूर हदीस है कि शाबान का महिना मेरा महीना है और रमजान शरीफ अल्लाह का महीना है।रोजा रखना, सदका करना और कुराआन शरीफ को ज्यादा से ज्यादा पढते रहना ताकि रमजान का पुरा महीना नबी के तरीकें पर गुजरे।उक बाते मुम्बई से आए मौलाना सुल्तान रजा ने उर्स ए मुकद्दस हजरत मखदुम शाह रहमतुल्ला ह अलैह के अवसर पर हाफिज कारी अनवार अशरफ की अध्यक्षता एवं अल्लामा मोहम्मद फुल हसन की सरपरस्ती मे आयोजित सीरत ए मुस्तफा कांफ्रेस को संबोधित करते हूए गोविंद पुर बेला गांव मे कही।उन्होंने ने कहा कि हमने जिस रसुल का कलमा पढा है।वह माह शाबान मे रोजा रखते है। एवं अपने माननेवाले के ओर से खुदा से गुनाहो की माफी मांगते अगर आज पूरी दूनियां के मुसलमान अपने नबी की बातो पर दिल से अमल करने लगे तो हर तरफ शांति ही शांति होगी।हजरत मुहम्मद साहब की पूरी जिंदगी अपनो एवं गैरो को साथ लेकर चलने मे गुजरी।एक हदीश मे आपने कहा कि खुदा की कसम वह मुसलमान नही तीन बार कसम खाकर फरमाया कि जो स्वयं पेट भर खाकर सो जाएं और उसके पड़ोसी भुखा रहे ऐसा व्यक्ति कभी मुसलमान नहु हो सकता।कारी ताजुद्दीन वारसी ने कांफ्रेंस का संचालन किया।कांफ्रेंस मे जौहर वेशालवी,खुशबू वैशालवी,कारी गुलाम जिलानी सितामढी ने नात पाक पेश कर हजारों श्रोताओं का तबीयत खुश कर दिया।उर्स मेले मे एवं कांफ्रेंस मे विधि व्यवस्था बनाए रखने के लिए कमिटी के सभी सदस्य एवं सभी ग्राम वासी पुरी मुस्तैदी से उपस्थित थे।