Pratapgarh News: Her Majesty's Governor was strongly welcomed
Breaking News उतरप्रदेश प्रतापगढ़

Pratapgarh News: महामहिम राज्यपाल का हुआ जोरदार स्वागत

रिपोर्ट गुलाब चंद्र गौतम

प्रतापगढ़ में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी, ओडीओपी के उद्यमियों, प्रगतिशील कृषक एवं कृषक उत्पादक संगठन, राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं रेड क्रास सोसाइटी सम्बन्धित अधिकारियों व स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से की वार्ता तथा दिये आवश्यक दिशा निर्देश समाज में दहेज प्रथा, पर्दा प्रथा, मद्यपान, बाल-विवाह के विरूद्ध महिलायें आगे बढ़कर करें कार्य-महामहिम राज्यपाल दूध पियो-दारू छोड़ों का महिलायें चलाये अभियान, डरो मत-थकों मत और प्रगति के रास्ते पर निरन्तर आगे बढ़ों-महामहिम राज्यपाल महामहिम राज्यपाल जी ने माँ बेल्हा देवी मन्दिर में पूजा/अर्चना की प्रदेश की महामहिम राज्यपाल आनन्दीबेन पटेल जी ने आज जनपद प्रतापगढ़ के पुलिस लाईन हेलीपैड पर पूर्वान्ह 10.55 बजे पहुॅची। हेलीपैड पर महामहिम राज्यपाल जी ने गार्ड ऑफ ऑनर की सलामी ली। हेलीपैड पर महामहिम राज्यपाल जी का स्वागत विधायक रानीगंज धीरज ओझा, विधायक विश्वनाथगंज डा0 आर0के0 वर्मा, विधायक सदर राजकुमार पाल, मण्डलायुक्त प्रयागराज आर रमेश कुमार, आईजी जोन केपी सिंह, जिलाधिकारी डा0 नितिन बंसल, पुलिस अधीक्षक शिवहरी मीना सहित अन्य जनप्रतिनिधियों एवं अधिकारीगणों द्वारा किया गया।
महामहिम राज्यपाल जी ने पुलिस लाइन के सईं काम्प्लेक्स में स्वयं सहायता समूह की महिलाओं, प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थी, ओडीओपी के उद्यमियों, प्रगतिशील कृषक एवं कृषक उत्पादक संगठन, राष्ट्रीय क्षय रोग उन्मूलन एवं रेड क्रास सोसाइटी सम्बन्धित अधिकारियों व स्वयं सेवी संस्थाओं के प्रतिनिधियों से वार्ता की।

Pratapgarh News: Her Majesty's Governor was strongly welcomed

महामहिम जी ने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं से वार्ता की। इस दौरान स्वयं सहायता समूह की महिलाओं ने बताया कि वह गरीबी के कारण आगे नही बढ़ पा रही है, तो महामहिम जी ने गरीबी का कारण पूछा तो स्वयं सहायता समूह की महिलाओं द्वारा बताया गया कि गरीबी का कारण समाज में पर्दा प्रथा, पुरूषों द्वारा मद्यपान करना, सामाजिक सोच, दहेज प्रथा आदि कुरीतियों है जो हम लोगों के विकास में बाधक है। इस दौरान स्वयं सहायता समूह की महिला कमरूनिशा जो तलाकशुदा है उनके द्वारा बताया गया कि दहेज के कारण मुझे तलाक दिया गया है। महामहिम राज्यपाल जी ने महिला समूहों को सम्बोधित करते हुये कहा कि महिलायें समूह बनाकर स्वयं बचत करें तो आजीविका मिशन के माध्यम से सरकार द्वारा भी आर्थिक मदद जी जायेगी जिससे वह रोजगार कर सकती है और आगे बढ़ सकती है। उन्होने कहा कि समाज में दहेज प्रथा, पर्दा प्रथा, मद्यपान, बाल-विवाह के विरूद्ध महिलाओं को आगे बढ़कर कार्य करना चाहिये, महिलाओं व बच्चों को अच्छे संस्कार दें, दूध पियो-दारू छोड़ों का अभियान महिलाओं को चलाना चाहिये। पुलिस प्रशासन द्वारा भी इस कार्य में महिलाओं का सहयोग करना चाहिये। महिलाओं का उत्साहवर्धन करते हुये उन्होने कहा कि समाज की चिन्ता न करें, यदि सहीं काम कर रही है, परिवार की आय बढ़ रही है जिससे देश एवं प्रदेश की आय बढ़ रही है तो कुछ दिन बाद यही समाज आपको सम्मान देगा। उन्होने स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को यह भी सुझाव दिया कि गांवों में 11-11 महिलाओं की सुरक्षा समिति बनायी जाये जिसे पुलिस विभाग द्वारा परिचय पत्र निर्गत किया जाये और इस महिला समिति द्वारा गांवों में होने वाली घरेलू हिंसा, दहेज प्रथा, दहेज उत्पीड़न, बाल-विवाह, पर्दा प्रथा, मद्यपान आदि सामाजिक बुराईयों को रोककर सामाजिक परिवर्तन का कार्य किया जाना चाहिये। उन्होने कहा कि डरो मत, थकों मत और प्रगति के रास्ते पर निरन्तर आगे बढ़ते रहे।
सभागार में प्रगतिशील किसान वीरेन्द्र बहादुर सिंह द्वारा महामहिम जी को अवगत कराया गया कि उनके द्वारा कृषि यन्त्रों के प्रयोग से उनके खेतों में उत्पादन बढ़ा है और उसकी लागत भी कम हुई है। वर्ष 2014 में भारत सरकार से सम्मानित किये गये थे। रासायनिक खादों का प्रयोग उनके द्वारा कम किया जाता है जैविक खाद का प्रयोग अधिक किया जा रहा है वह अपने स्तर से अन्य किसानों को भी प्रेरित कर रहे है। महामहिम जी ने अपेक्षा की कि इसका लाभ अन्य किसानों को मिलना चाहिये। महामहिम जी ने सुझाव दिया कि कुछ युवाओं को कृषि यन्त्र उपलब्ध कराकर उन्हें रोजगार उपलब्ध कराया जा सकता है। उन्होने कस्टमाइज हाइरिंग का सुझाव दिया ताकि किसानों को कम किराये पर कृषि यन्त्रों का लाभ प्राप्त हो सके। उन्होने जैविक खेती पर जोर दिया, एफपीओ के संजीव कुमार शुक्ला द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा 11 एफपीओ के गठन को प्रोत्साहित किया गया है जिससे सैकड़ों किसान प्रगतिशील कृषि का कार्य कर रहे है जिसमें विशेष रूप से औषधीय पौधों का उत्पादन किया जा रहा है। उनके द्वारा किसानों के उत्पाद का सर्टिफिकेशन भी कराया जा रहा है जिसके कारण किसानों के उत्पाद बाजार में अच्छी कीमत पर खरीदे जा रहे है। एफपीओ के गोविन्द सरोज द्वारा बताया गया कि उनके द्वारा टै्रक्टर रोटावेटर के माध्यम से किसानों के जैविक खेती में सहयोग दिया जा रहा है जिसके कारण किसान पराली नही जलाते है जिससे पर्यावरण भी सुधर रहा है। महामहिम जी ने रासायनिक उर्वरकों के अत्यधिक उपयोग पर चिन्ता व्यक्त की, उन्होने कहा कि रासायनिक उर्वरक से कैन्सर जैसे रोग बढ़ रहे है।
महामहिम ने राष्ट्रीय क्षय रोग कार्यक्रम एवं रेड क्रास सोसाइटी के सदस्यों से वार्ता की। महामहिम जी ने रेड क्रास सोसाइटी को सक्रिय करने का सुझाव दिया तथा टीवी रोग के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। मुख्य चिकित्साधिकारी द्वारा बताया गया कि 18 वर्ष तक के 60 मरीजों को गोद लिया गया था जिसमे से 59 मरीज ठीक हो गये है और एक का ईलाज चल रहा है। इस वर्ष 0 से 18 वर्ष के 166 मरीजों को गोद लिया गया है जिनका ईलाज चल रहा है। महामहिम जी ने अपेक्षा की कि जनपद में सभी टीवी मरीजों का सर्वे किया जाये और उन मरीजों को गोद लिया जाये, यह हमारा सामाजिक दायित्व है जो बीमार गरीब है उन्हें सहायता दी जाये और उन्हें आगे बढ़ाया जाये। मुख्य चिकित्साधिकारी को निर्देश दिया कि 18 से 25 वर्ष तक के युवाओं को भी गोद लिया जाये और जनपद में डिग्री कालेज के प्रबन्धकों तथा स्वयं सेवी संस्थाओं एवं अधिकारियों को इसके लिये प्रेरित किया जाये तभी 2025 तक देश, प्रदेश एवं जनपद टीवी मुक्त हो सकेगा। उन्होने टीवी मरीजों को चना, गुड़, मुंगफली एवं मौसमी फल दिये जाने पर जोर दिया। महामहिम ने जिलाधिकारी से कहा कि 15 दिवस में जनपद के सभी टीवी मरीजों को गोद लेने की प्रक्रिया पूर्ण कर ली जाये।
महामहिम जी ने प्रधानमंत्री आवास योजना के लाभार्थियों, ओ0डी0ओ0पी0 के उद्यमियों एवं प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम के लाभार्थियों से वार्ता की। महामहिम जी को जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि जनपद में ओडीओपी के रूप में आंवले का चयन किया गया है और जनपद में आंवले की खेती करने एवं आंवले के उत्पाद विक्रय से हजारों युवाओं को रोजगार मिल रहा है। प्रधानमंत्री आवास के लाभार्थियों से वार्ता करते हुये महामहिम ने उनसे आवास, गैस कनेक्शन, शौचालय के उपयोग एवं रोजगार के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की। इस दौरान परियोजना निदेशक डीआरडीए द्वारा बताया गया कि जनपद में 2019 में 9607 एवं वर्ष 2020-21 में 26629 आवास का लक्ष्य प्राप्त हुआ था जिसके सापेक्ष वर्ष 2019 में 9549 एवं वर्ष 2020-21 में 99 आवास पूर्ण हो गये है एवं अन्य लाभार्थियों को प्रथम किस्त निर्गत कर दी गयी है। महामहिम ने सभी आवास लाभार्थियों को बिजली एवं उज्जवला योजना के तहत गैस कनेक्शन, पेयजल, शौचालय आदि की सुविधा उपलब्ध कराने की अपेक्षा की।
महामहिम राज्यपाल जी द्वारा सांई काम्प्लेक्स के सभागार में स्वयं सहायता समूह की प्रतिभा देवी सदस्य नारी शक्ति संकुल संघ, सबा खान सदस्य परी आजीविका स्वयं सहायता समूह, सुमन सरोज सदस्य शिव आजीविका स्वयं सहायता समूह, नीलम मौर्या सदस्य पार्वती स्वयं सहायता समूह, कमरूल निशा सदस्य चांद आजीविका स्वयं सहायता समूह को प्रशस्ति पत्र व उपहार देकर सम्मानित किया है। इसी प्रकार प्रगतिशील कृषक उत्पादक संगठन के वीरेन्द्र सिंह प्रगतिशील कृषक, संजीव कुमार शुक्ला अन्नगर्भा बायोएनर्जी फार्मर, अरविन्द कुमार सिंह एग्रो बायोएनर्जी फार्मर, गोविन्द कुमार एग्रो बायोएनर्जी फार्मर, सुरेन्द्र कुमार शर्मा कृषि उत्पादक संगठन, उर्मिला सिंह महिला स्वावलम्बी ट्रस्ट, वीरेन्द्र कुमार तिवारी को फार्म मशीनरी की चाभी एवं अंवगस्त्रम् देकर सम्मानित किया। इसी प्रकार महामहिम राज्यपाल ने प्रधानमंत्री आवास योजना की लाभार्थी सुनीता पत्नी अशोक कुमार, राम बरन पुत्र तेज बहादुर, राम खेलावन पुत्र रघुवीर, सोहन लाल पुत्र रामदीन, गीता देवी पत्नी हरीलाल को आवास की चाभी देकर सम्मानित किया। इस दौरान महामहिम राज्यपाल जी ने प्रधानमंत्री आवास योजना की लाभार्थी सुनीता को विशेष रूप से अपनी शाल ओढ़ाकर सम्मानित किया। इसी तरह ओडीओपी उद्यमी के लाभार्थी पुनीत त्रिपाठी पुत्र विवेकानन्द त्रिपाठी को रूपये 180 लाख का डेमो चेक और मोहनी अग्रवाल पत्नी आशीष अग्रवाल को 3 लाख रूपये का डेमों चेक देकर सम्मानित किया। तत्पश्चात् महामहिम ने माँ बेल्हा देवी मन्दिर पहुॅचकर पूजा/अर्चना की। मन्दिर परिसर में मंत्री मोती सिंह के मीडिया प्रभारी विनोद पाण्डेय जी ने महामहिम राज्यपाल को पुष्प गुच्छ देकर स्वागत किया गया इस दौरान अपर जिलाधिकारी (वि0/रा0) शत्रोहन वैश्य, मुख्य राजस्व अधिकारी इन्द्र भूषण वर्मा, अपर पुलिस अधीक्षक पूर्वी सुरेन्द्र द्विवेदी तथा पश्चिमी दिनेश द्विवेदी, उपजिलाधिकारी सदर मोहन लाल गुप्ता, उपजिलाधिकारी पट्टी धीरेन्द्र प्रताप सिंह, उपजिलाधिकारी रानीगंज राहुल यादव, जिला सूचना अधिकारी विजय कुमार सहित अन्य अधिकारीगण उपस्थित रहे।