Breaking News आगरा उतरप्रदेश

Agra News: डग्गामार वाहन बाह आगरा स्टेट हाइवे के लिए बन गए हैं नासूर रोजाना लगा रहे हैं परिवहन विभाग को चूना।

संवाददाता सुशील चंद्र
आगरा/वाह: कस्बा बाह में प्रतिदिन बाह आगरा स्टेट हाइवे पर जाम के हालात रहते हैं जाम का मुख्य कारण बाह आगरा हाईवे पर दौड़ रहे अवैध डग्गामार वाहन हैं जो सड़क पर बेतरतीब फर्राटे भर रहे हैं। ये अवैध डग्गामार वाहन न केवल परिवहन विभाग को लाखों का चूना लगा रहे हैं बल्कि सवारियों की जिंदगी से भी खिलवाड़ कर रहे हैं और सड़क पर आए दिन हो रही दुर्घटनाओं का भी कारण बन रहे हैं। ये डग्गामार वाहन सवारियों को भरने के चक्कर में वाहनों को सरकारी बस स्टैंड के ठीक सामने लगा लेते हैं और सरकारी बसों से सवारियों को जबरन उतारकर अपने डग्गामार वाहनों में बैठा लेते हैं। कई बार लोग इसका विरोध भी करते हैं तो यह लोग मारपीट पर उतारू हो जाते हैं।इन डग्गामार बसों के कारण स्थानीय दुकानदार भी परेशान रहते हैं ये लोग अपने वाहनों को सड़क पर दुकानों के सामने लगा लेते हैं जिससे दुकान पर आने जाने वाले ग्राहकों को तकलीफ उठानी पड़ती है। दुकानदारों ने इन डग्गामार वाहनों की शिकायत मुख्यमंत्री पोर्टल पर भी की है जिसका कुछ दिनों तक असर रहता है और कुछ दिनों बाद फिर से वही हालात हो जाते हैं। एक डग्गामार बस के चालक ने दबी जुबान कहा कि हम लोग अधिकारियों को पैसा देते हैं इसलिए हमारा कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता हम ऐसे ही रोड पर डग्गेमारी करेंगे। सोचने वाली बात यह है कि इस जाम में कई बार अधिकारी और नेता तक फँस जाते हैं फिर भी इन अवैध डग्गामार वाहनों पर कार्यवाही नहीं होती।परिवहन विभाग द्वारा भी इन डग्गेमारों के खिलाफ कोई अभियान न चलाये जाने से इनके हौसले बुलंद रहते हैं। आगरा बाह स्टेट हाइवे पर सैकड़ों की संख्या में अवैध डग्गेमारों की भरमार है जो कि दिल्ली, आगरा,इटावा, भिंड आदि मार्ग पर धड़ल्ले से दौड़ रहे हैं और हर माह परिवहन विभाग को लाखों का चूना लगा रहे हैं। ये डग्गेमार वाहन गंतव्य तक जल्दी पहुँचने के चक्कर में तीव्र गति से गाड़ियों को सड़क पर दौड़ाते हैं जिससे कई बार हादसे भी हो चुके हैं बाबजूद इसके इन डग्गामार पर कार्यवाही नही हो सकी।ये डग्गामार बाह आगरा स्टेट हाइवे पर बिना किसी परमिट के डग्गेमारी कर न केवल सवारियों की जिंदगी से खिलवाड़ कर रहे हैं बल्कि राजस्व को भी चूना लगा रहे हैं।इन डग्गेमारों पर कही जाति सूचक शब्द लिखे हुए हैं तो किसी किसी पर डिपो से मिलते जुलते शब्द,जिसे देखकर और पढ़कर भी सवारियां धोखा खा जाती हैं और इन डग्गेमारों में बैठ जाती हैं ।