Breaking News आज़मगढ़ उतरप्रदेश

आजमगढ़ न्यूज़: पूर्व विधायक बृजलाल सोनकर ने अपने ऊपर लगे मारपीट और जमीनी विवाद के आरोपों को बताया बेबुनियाद

संवाददाता रवीन्द्र नाथ गुप्ता

आजमगढ़। सपा के पूर्व विधायक बृजलाल सोनकर ने अपने ऊपर मारपीट करने व जमीन पर कब्जा किए जाने के आरोप को सिरे से खारिज करते हुए कहा कि उन्होंने इस जमीन का बैनामा लिया है और विपक्षी द्वारा उन्हें फंसाने की साजिश की जा रही है जबकि जमीन का मामला दीवानी न्यायालय में चल रहा है और वह न्यायालय के आदेश का इंतजार कर रहे हैं। जबकि विपक्षी के द्वारा जबरदस्ती उस पर निर्माण कार्य किया जा रहा था और असफल होने पर उसने हमारे ऊपर इस तरह का आरोप लगाया।

उन्होंने कहा कि अवनीश राय व उनके परिवार के लोगों ने आरोप लगाया था कि आजमगढ़ जिले के मंेहनगर विधानसभा क्षेत्र से पूर्व विधायक बृजलाल सोनकर सिधारी थाना क्षेत्र के नरौली पर स्थित उनकी जमीन पर अवैध रूप से कब्जा कर रहे हैं और जब इन लोगों द्वारा विरोध किया गया तो विधायक व उनके समर्थकों द्वारा उनके साथ मारपीट की गई। इस मामले में अवनीश द्वारा थाने में मुकदमा भी दर्ज कराया गया है। इन सब मामलों को लेकर आज पूर्व विधायक बृजलाल सोनकर पत्रकारों से वार्ता करते हुए कहा कि उनके ऊपर लगाए गए सभी आरोप निराधार हैं क्योंकि यह जमीन उन्होंने 2010 में बैनामा लिया और उस जमीन पर इनका कब्जा है। वर्ष 2017 में निर्माण शुरू किया तो रामाश्रय राय के परिवार के अवनीश राय इत्यादि लोग अपने साथियों के साथ मौके पर आएं और काम बंद करवा दिए। अपना कब्जा बरकरार रखते हुए मैंने विवाद से बचने के लिए शांतिपूर्वक काम बंद कर दिया। दीवानी न्यायालय में रामाश्रय राय व उनके परिवार के विरुद्ध वाद दायर किया गया जो अभी भी न्यायालय में चल रहा है।

उनका कहना है कि अवनीश राय व उनके परिवार के लोग अपने समर्थकों के साथ 10-12 मजदूरों के साथ जमीन पर कब्जा करने लगे। उस दौरान में लखनऊ था और मेरे घर से फोन से सूचना मिली मैं वापस आया और स्थानीय थाने पर कागजात दिखाकर काम रुकवाने का निवेदन किया। पुलिस ने न्यायालय के आदेश को देखते हुए कोई भी काम न करने का निर्देश देते हुए मना किया। उन्होंने कहा कि मेरे द्वारा कोई मारपीट नहीं की गई। उन्होंने कहा कि न्यायालय का जो भी आदेश होगा वह उनके लिए मान्य है और न्यायालय के फैसले का इंतजार कर रहे हैं।