कृषि यंत्र के लिए पंजाब हरियाणा जैसा है महुआ का है बखरीदोआ और जिड़वाड़ा गांव
Breaking News बिहार

कृषि यंत्र के लिए पंजाब हरियाणा जैसा है महुआ का है बखरीदोआ और जिड़वाड़ा गांव

संवाददाता राजेंद्र कुमार हाजीपुर वैशाली।महुआ-वैशाली जिलाकृषि प्रधान है और यहां के किसान अपने खेतो मे फसल और उसको सही तरीके से देखरेख के लिए वैज्ञानिक पद्धति से कृषि यंत्र का उपयोग करते है।जो बिहार मे उन्हें उपलब्ध नहीं हो पाता।जिसके कारण उन्हें दूसरे राज्यो पर निर्भर होना पड़ता है।गेहूँ का फसल का समय है इसके लिए किसानों को गेहूँ के दौनी के लिए र्थसर उपयोग करना अनिवार्य हो जाता।ऐसे मे वह इसकी खरीद करने के लिए पंजाब हरियाणा जाते है।

कृषि यंत्र के लिए पंजाब हरियाणा जैसा है महुआ का है बखरीदोआ और जिड़वाड़ा गांव

महुआ अनुमंडल के किशनपुर तेलौर गांव के युवा अक्षय कुमार यादव और अंतरराष्ट्रीय मानव अधिकार सुरक्षा संगठन के प्रदेश महामंत्री अमरजीत कुमार यादव किसानों के लिए संकल्पित है।पिछले पनद्रह से करते आ रहे है।इन्होंने बतलाया कि बिहार के विभिन्न जिला बेगुसराय, मुजफ्फरपुर, समस्तीपुर, जहानाबाद, इरा,बक्सर सहित विभिन्न जिला से किसान र्थसर खरीदने के लिए जाते है।उन्हें उचित मूल्य पर यह उपलब्ध कराते है।व्यवसायी को बहुत परेशानी झेलनी पड़ रही है।