Breaking News बिहार

Bihar News: वीटीआर लॉक डाउन के मद्देनजर चप्पे चप्पे पर रखी जा रही है नज़र

संवाददाता मोहन सिंह

बेतिया : कोरोना महामारी के बढ़ते नए रूप की वजह से सरकार ने पब्लिक प्लेसों को बंद कर दिया है । इस बंदी का असर जिला स्थित वाल्मीकि टाइगर रिजर्व के क्षेत्रों पर भी देखा जा रहा है।वीटीआर आमजनों के लिए पूरी तरह से बंद कर दिया गया है । ताकि कोरोना महामारी के बढ़ते प्रभाव को कम किया जा सके । ऐसे में वन विभाग के सामने वीटीआर जंगल की सुरक्षा चुनौतीपूर्ण कार्य दिख रहा है । जंगलों में आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिया गया है ।

वन विभाग जोखिम उठाना नहीं चाहती

वीटीआर के जंगलों में जानवरों के आवाज़ों के सिवाय कुछ भी सुनाई नहीं देता है । इस वीरानगी और सन्नाटे वातावरण का लाभ वन अपराधी उठाने की फिराक में लगे रहते हैं । इन सब बातों के मद्देनजर वन विभाग किसी भी तरह का कोई जोखिम उठाना नहीं चाहता है ।

16 सुरक्षा टीमें कर रही है गश्ती

वनप्रमण्डल 2 के रेंजर महेश प्रसाद ने बताया कि वीटीआर जंगल के सभी सेक्टरों के लिए दिवा व रात्रि गश्ती दल की 10 टीमों के द्वारा सुरक्षा की जा रही है । 4 टीमें दिन व 4 टीमें रात्रि के गश्ती के लिए तैनात की गई है। साथ ही दो टीमें संध्या गश्ती की जाल व तार करेंट की गतिविधियों पर नज़र रखने के लिए कार्य कर रही है । ये टीमें कहीं भी गलत गतिविधियों की भनक लगते ही सूचना कार्यालय को देंगे,सूचना के फौरन बाद गश्ती टीम को उक्त स्थल पर भेज दिया जाएगा।उन्होंने आगे बताया कि गैंडे की मॉनिटरिंग के लिए 4 टीमें लगी हुई है, जो दिन व रात गैंडे की लोकेशन व सुरक्षा सुनिश्चित करने का कार्य कर रहें है ।

इंडो नेपाल सीमाई क्षेत्र की वजह से तस्कर सक्रिय

बतातें चलें कि वीटीआर जंगल का एक बड़ा भाग नेपाल चितवन जंगल से लगता है । जहां दोनों ही तरफ के जंगली जानवरों के आवाजाही के रोक थाम के लिए किसी भी तरह का फेंसिंग या बाड़ नहीं लगाया गया है । साथ ही इंडो नेपाल सीमाई क्षेत्र होने की वजह से राज्यकीय व अतंर्राष्ट्रीय तस्करों की निगाहें लगी रहती है । ज्ञात हो कि चितवन व वाल्मीकि टाइगर रिजर्व की जंगलों में बाघ,हिरण, भालू,हाथी,गैंडा सहित कई प्रजातियों के पेड़ पौधे पाए जाते है । जिसकी चोरी छिपे तस्करी करने की जुगत में तस्कर लगे रहते है। इन सभी गलत गतिविधियों पर रोकथाम व अंकुश लगाने के लिए वन विभाग गश्ती की कई टीमें बनाकर पैदल,साइकल,बाइक,हाथी के साथ बीहड़ जंगलों में गश्ती कर रहे हैं ।