Breaking News बिहार

Bihar News: घातक बन रहे कोरोना संक्रमण पर जीत के लिये खुद को अंदर और बाहर से करें मजबूत: गरिमा

संवाददाता मोहन सिंह

बेतिया: कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर एक बड़ी चुनौती बनकर फिर हमारे सामने है। हमें अपने प्रबल आत्मविश्वास और दृढ़ इच्छाशक्ति के बूते एक बार फिर कोरोना संक्रमण के दूसरे दौर पर भी काबू पाना है। कोरोना संक्रमण के बड़े खतरे के प्रति लोगों सावधान करने के साथ ही गरिमा देवी सिकारिया ने लोगों को प्रेरित किया। उन्होंने बताया कि मैं स्वयं करीब एक पखवाड़ा पहले कोरोना पोजेटिव हो गयी थी। देखते ही देखते हमारे परिवार के कुल सात लोगों की कोरोना रिपोर्ट पोजेटिव आ गई। प्रारंभिक घबराहट से उबरने के बाद हमने इससे जूझने के लिये खुद को अंदर से मजबूत किया। गॉवरमेंट मेडिकल कॉलेज के चिकित्सा पदाधिकारी की सलाह पर मैं होम कोरेन्टीन होगई। मिले चिकित्सकीय सलाह के अनुसार सावधानी व उपचार, मैं और मेरे सभी परिजन लेते रहे। अब बारी बारी से हमारे सभी संक्रमित परिजनों की रिपोर्ट कोरोना निगेटिव की आ गई है। नगर परिषद की निवर्तमान सभापति श्रीमती सिकारिया ने कहा कि कोरोना की इस त्रासदी से जूझ रहे लोगों में आत्मविश्वास सर्वश्रेष्ठ संबल होना चाहिये। अस्पताल या होम आइसोलेशन में रहकर कोरोना को हमें हराना है। इसके लिये हम सबको संयमित और एकांत में सुरक्षित रखना है। कोरोना पर जीत हासिल करने के लिये हमें अपने मन को और मजबूत बनाना है। क्योंकि
हमारा मन एक उच्च शक्तिशाली मैगनेट की तरह है। अगर हम सकारात्मक होकर सफलता की सोचेंगे तो सफलता की ओर बढ़ेंगे, तो निश्चय सफल हो ही जायेंगे। इससे उलट अगर आप प्रोब्लम्स के बारे में सोचेंगे तो हमारे लिये अपने प्रोबल्म्स को हराना मुश्किल होता जाएगा। क्योंकि हमें सदा सकारात्मक, सुरक्षित और संयमित होकर ही कोरोना पर विजय हाशिल कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि अगर आप किसी की खुशियाँ लिखने वाली पेन्सिल नहीं हो सकते तो भी एक ऐसा इरेजर बनिए जो दूसरों का दुःख मिटा सकता हो। फोटो