Breaking News आगरा उतरप्रदेश

Agra News: प्राइमरी स्कूल के शिक्षक हुए बेलगाम स्कूल को बनाया जानवरों का तबेला

बाह: शिक्षा के गिरते स्तर को सुधारने और गुणवत्ता पूर्ण बनाने के लिए सरकार निरंतर प्रयास कर रही है।कोरोना काल मे बच्चों की शिक्षा प्रभावित न हो इसके लिए सरकार द्वारा ई पाठशाला मोहल्ला पाठशाला आदि के माध्यम से शिक्षकों को विद्यालय पहुँच कर शिक्षण कार्य करने के निर्देश दिए गए हैं लेकिन नौकरी के नाम पर मोटी तनख्वाह ले रहे शिक्षक, शिक्षिकाएं विद्यालय ही नहीं जाते घर बैठे ही सभी लक्ष्य कागजों पर ही पूरे कर रहे हैं।

10:20 के बाद भी बंद पड़ा सामरमऊ का विद्यालय

ऐसे में देश के नौ निहालो का क्या भविष्य होगा यह सोचने वाली बात है।

जानकारी के अनुसार बाह तहसील के विद्यालयों की स्थित बहुत अच्छी नहीं है सोमवार को सामरमऊ और चौरंगाहार गावँ में बने प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालयों के मुआयने के दौरान चौरंगाहार के प्राथमिक विद्यालय में साढ़े दस बजे मुख्य गेट पर ताला पड़ा था स्टाफ नदारद था।

सवा दस बजे भी नहीं खुला चौरंगाहार का स्कूल

वहीं प्राथमिक और उच्च प्राथमिक विद्यालय सामरमऊ के विद्यालय में भी ताले पड़े हुए थे।विद्यालय में जानवर बंधे हुए थे।परिसर में गोबर और गंदगी के ढेर पड़े हुए थे।विद्यालय में 9 शिक्षक शिक्षिकाओं की तैनाती है लेकिन विद्यालय की स्थिति को देखने से पता चल रहा था कि विद्यालय कभी कभार ही खुलता हो।

Agra News: प्राइमरी स्कूल के शिक्षक हुए बेलगाम स्कूल को बनाया जानवरों का तबेला

सामरमऊ विद्यालय में बँधे पशु और पड़ी गंदगी

विद्यालय में तैनात शिक्षामित्र साढ़े दस बजे विद्यालय में पहुँचे।

विद्यालय परिसर में रेनहरवेस्टिंग के लिए खोदे गए गड्ढे खुले पड़े थे जिनमें ऊपर तक पानी भरा हुआ था।स्कूल की बाउंड्री बाल टूटी पड़ी है जिसके चलते छोटे बच्चे विद्यालय में घुस जाते हैं अगर कोई बालक खेलते समय गड्ढों में गिर जाय और कोई हादसा हो जाए तो इसके लिए कौन जिम्मेदार होगा।

सामरमऊ विद्यालय में खुले पड़े रेनहरवेस्टिंग को बनाये गड्ढे

यह सोचने वाली बात है।अध्यापक घर बैठे ही कागजों पर सरकार द्वारा निर्देशित लक्ष्यों को पूरा कर रहे हैं और घर बैठे मोटी तनख्वाह लेकर बच्चों के भविष्य के साथ खिलवाड़ कर रहे हैं।