विश्व जल दिवस के अवसर पर सोनिया ने कहा जल है तो कल है
Breaking News उतरप्रदेश संत कबीर नगर

विश्व जल दिवस के अवसर पर सोनिया ने कहा जल है तो कल है

संत कबीर नगर :राजकीय कन्या इंटर कॉलेज खलीलाबाद संत कबीर नगर की व्यायाम शिक्षिका सोनिया ने विश्व जल दिवस के अवसर पर विद्यालय के समस्त छात्राओं को साथ के शपथ लिया की,, पानी की हर की एक बूंद संचयन करूंगी। तथा *कैच दा रैन अभियान को बढ़ावा देने में पूरा सहयोग करूंगी। मैं पानी को अनमोल संपदा मानूंगी। ऐसा मानते हुए मैं इसका उपयोग करूंगी। मैं अपने परिवार जनो, हित मित्रों और पड़ोसियों को भी इसके विवेकपूर्ण उपयोग और व्यर्थ ना करने के लिए प्रेरित करूंगी।क्योकि जल है तो कल है। बच्चों पानी हमारे जीवन का एक महत्वपूर्ण हिस्सा है । हमारे हर दिन के जीवन में यह एक आवश्यक भूमिका निभाता है। सुबह से लेकर शाम तक हमारे दैनिक जीवन में उपयोग होने वाले सभी चीजों पर नजर डालें तो बिना पानी की कोई चीज करना संभव नहीं है मनुष्य के शरीर में लगभग 70% हिस्सा पानी है इसलिए कहा जाता है कि जल ही जीवन है।

विश्व जल की शुरुआत 22 दिसंबर 1992 को संयुक्त राष्ट्र असेंबली में प्रस्ताव लाया गया था जिसमें ये घोषणा की गई की 22 मार्च को हर वर्ष विश्व जल दिवस के रूप में मनाया जाएगा इसके बाद 1993 से दुनिया भर में 22 मार्च को विश्व जल दिवस के रूप में मनाया जाने लगा। अगर हम सब सही समय पर नहीं चेते तो पेयजल किल्लत की भयावह तस्वीर जल्द ही हम सब को देखने को मिलेगी। इसलिए हम सब पानी को बर्बादी को रोकें ।

विश्व जल दिवस के अवसर पर सोनिया ने कहा जल है तो कल है

जिस तरह हम सब लोग पैसे को बैंक में जमा करते हैं उसी तरीके से आप सब लोग अपने अपने घरों में , एवम् सभी सरकारी ऑफिसों में जल संरक्षण करने की व्यवस्था लागू हो जाए तो बहुत ही आसान तरीके से जल को बचाया जा सकता है और आने वाले अपनी पीढ़ी को जल के लिए तरसने से रोका जा सकता है क्योंकि मेरी भावी पीढ़ी कहीं जल से महरुम ना हो जाए इसलिए आइए आप सब हम मिलकर एक एक जल की बूंदों को बचाएं ।ये जल नहीं अमृत की बूंद है ।इसकी संरक्षण हम सब की जिम्मेदारी है ।