Bihar newsअररिया 15 नवंबर से मंडल कारा भौतिक रूप से मुलाकाते सेवा शुरू
Breaking News बिहार

Bihar newsअररिया 15 नवंबर से मंडल कारा भौतिक रूप से मुलाकाते सेवा शुरू

मंटू राय संवादाता अररिया

मुलाकातियों को ई परिजन सेवा के माध्यम से आवेदन भरने होंगे बंदियों व मुलाकातियों को पूर्णरूपेण कोविड- नियमों का पालन करना होगा कोविड-19 के संक्रमण से रोकथाम एवं बचाव हेतु बंदियों को उनके परिजनों से 17 मार्च 2020 से ही भौतिक मुलाकात की व्यवस्था पर प्रतिबंध लगाया गया था लेकिन वर्तमान समय में बिहार राज्य मैं कोविड-19 से संक्रमित व्यक्तियों की संख्या में लगातार कमी दर्ज की जा रही है इसी को देखते हुए आगामी 15 नवंबर से फिर मंडल कारा अररिया में भौतिक रूप से मुलाका की सुविधाएं प्रारंभ की जा रही है यह जानकारी जेल अधीक्षक जवाहर लाल प्रभाकर ने दी है जेल अधीक्षक श्री प्रभाकर ने बताया कि इस संबंध में बिहार पटना के कारा एवं सुधार सेवाएं महानिरीक्षक मिथिलेश मिश्र जी के द्वारा एक आदेश जारी किया गया है जिसमें लिखा गया है कि 15 नवंबर से काराओ में बंदियों के परिजनों से मुलाकात हेतु ऑनलाइन मुलाकात (ई मुलाकात के साथ-साथ भौतिक मुलाकात व्यवस्था प्रारंभ की जाये आदेश पत्र में इस बात का भी जिक्र किया गया है ।

 

 

विगत 3 माह बिहार राज्य की कराओ में संसीमित बंदिओं अथवा कार्यरत कर्मियों में कोरोना का कोई भी नया मामला प्रतिवेदित नहीं हुआ है इससे यह स्पष्ट होता है की वर्तमान समय में बिहार राज्य की सभी काराओ में कोरोना संक्रमण से मुक्त है उल्लेखनीय है कि बिहार राज्य में कोविड-19 टीकाकरण का कार्य भी तेजी से चल रहा है काराओ में संसीमित अधिकांश बंदिओं का भी कोविड-19 टीकाकरण किया जा चुका है इसलिए भी काराओ में संसीमित बंदियों के परिजनों से मुलाकात हेतु ऑनलाइन मुलाकात (ई मुलाकात के साथ-साथ भौतिक मुलाकात व्यवस्था प्रारंभ किया जाना वर्तमान परिपेक्ष्य मैं जरूरी है बंदियों व मुलाकातियों के लिए कुछ आवश्यक दिशा निर्देश

 

 

Bihar newsअररिया 15 नवंबर से मंडल कारा भौतिक रूप से मुलाकाते सेवा शुरूमंडल कारा अररिया में बंद सज़ावार व विचारधीन बंदियों/ संसीमित बंदिओं का उनके परिजनों से मुलाकात हेतु आवेदन ईपरिजन सेवा का माध्यम से लिया जाएंगे ऑनलाइन माध्यम से प्राप्त आवेदन के आधार पर उन्हें एक निश्चित समय सीमा की जानकारी दी जाएगी ताकि कारा के गेट पर बिना पुर्व अनुमति प्राप्त आये मुलाकातियों के अनावश्यक भीड़ भाड़ एवं विधि व्यवस्था से बचा जा सके वही मुलाकाती के समय सुबह 8:00 बजे से दिन के 12:00 बजे तक निर्धारित किया गया है बंदियों व मुलाकातियों के सोशल डिस्टेंसिंग के साथ थर्मल स्क्रीनिंग कराना अनिवार्य किया गया है मुलाकात काउंटर पर सेनीटाइजर की व्यवस्था रहेगी ताकि मुलाकाती सत्र प्रारंभ होने एवं समाप्ति पर सेनीटाइजर से सेनेटाइज किया जा सके वही हर परिस्थिति में कोविड-19 का गाइडलाइन का पालन करना होगा