Breaking News बिहार

Bihar News: नाला निर्माण की मांग को लेकर नागरिकों एवं माले कार्यकर्ताओं ने दिया धरना

संवाददाता मोहन सिंह

बेतिया: वार्ड नंबर 27 नागरिक मंच और भाकपा-माले की ओर से रमेश राउत के घर के सामने कम्युनिस्ट पार्टी कार्यालय एवं सागर पोखरा मुख्य मार्ग पर रामचंद्र मल्लिक की अध्यक्षता में रमेश राउत के घर से लेकर अजय मल्लिक के घर तक बन रहे आर०सी० नाला और स्लैब निर्माण कार्य पर विनय कुमार बागी द्वारा नजायज रुप से नगर निगम प्रशासन और जिला प्रशासन को अतिक्रमण का पत्र देकर रोक लगवा दिया गया है के विरोध में धरना दिया गया। धरना को संबोधित करते हुये भाकपा-माले के जिला नेता रवीन्द्र कुमार रवि ने कहा की उक्त नाला वर्ष 1966 में ही बना है।उस नाला का निर्माण समय-समय पर नगर पालिका की ओर से जिर्णोधार होता रहा है। विदित हो की उस नाला को अनेको जगह पर ध्वस्त हो जाने के कारण आय दिन जल जमाव के कारण जगजीवन नगर वासियों को काफी दिक्कत का सामना करना पड़ता है। माले नेता ने कहा कि मुख्य नाला में जल जमाव के कारण ही मुहल्ले के कामता राउत के घर से लेकर भाया सोहन राउत के घर ह़ोते हुये कन्हाई राउत के घर तक पीसीसी रोड और दर्जनों घरों में जल जमाव हो जाने के कारण पानी का सड़ांध पैदा हो जाता है। जिस कारण भयानक बीमारी का खतरा बना रहता है। माले नेता रवीन्द्र रवि ने कहा की लगभग चार माह पहले रमेश रावत के घर से होते हुए वाया रामचंद्र मलिक के घर से होते हुए अजय मलिक के घर तक आरसी नाला और सेलेब का निर्माण नगर निगम के द्वारा राज्य योजना सहायक अनुदान की राशि से बन रहा था। इसी बीच जगजीवन नगर के विनय कुमार बागी द्वारा नगर निगम प्रशासन और जिला प्रशासन को अतिक्रमण का पत्र देकर नाला बनने में व्यवधान पैदा कर दिया गया आज भी गत 4 महीनों से बन रहे नाला का कार रुक जाने के कारण नाले में कचड़ा का अंबार लग गया है श्री रवि भतार उक्त नाला में एक वृद्ध महिला को गिर जाने से उसके हाथ पांव में मोच आ गया था और उस नाले में एक कुत्ता के बच्चा और दो सूअर के बच्चा को गिर जाने से मौत हो चुकी है इस भीषण गर्मी में वह मुख्य नाला काफी बदबूदार हो चुका है तथा उस नाले के किनारे रहने वाले बहुत से लोगों के घर में इसी महीना शादी विवाह के कार्यक्रम भी है नाले के किनारे के तमाम लोगों को उस नाला टोकने में आए दिन कोई न कोई घटना घटती रहती है माले नेता रविंद्र रवि ने कहा की विनय कुमार बागी द्वारा लगभग 56 वर्ष पुराना नाला के जिर्णोधार में रोक लगाने के पीछे उसकी नीति ठिकेदार और नाला के किनारे रह रहे जगजीवन नगर वासियों से मोटी रकम वसुलने को थी। यहां तक की विनय बागी द्वारा ठिकेदार पर बेवजह धौंश जमाकर ठिकेदार से भाया मीडिया के द्वारा 8 हजार रुपये का ठगी भी किया जा चुका है तथा नाले के किनारे बसे हुये मुहल्लें वासिय़ों से मोटी रकम उगाही की थी। एक सप्ताह पहले नगर निगम प्रशासन और जिला प्रशासन को पत्र देकर आग्रह किया गया था कि उक्त नाले को शीघ्र बनवाया जाए। परंतु आज तक नाला नहीं बनने के कारण वार्ड नंबर 27 के तमाम नागरिक तंग आकर धरना पर बैठते हुये सड़क जाम कर दियें। धरना स्थल पर नगर थानाध्यक्ष मह़ोदय द्वारा आकर और अनुमंडलाधीकारी महोदय से वार्ता कर शीघ्र नाला को पुन: बनवाने के आश्वासन दिये जाने पर धरना को समाप्त किया गया। धरना को रामचंद्र मल्लिक,राजू कुमार,गोपाल भारती,माला देवी,प्रभावती देवी,गोपी राउत,शोभा देवी ,रिंकु कुमार,सुधा देवी,अनिता देवी आदी वक्ताओं ने भी संबोधित कियें। फोटो