आगरा

आगरा न्यूज: कौन बनेगा करोड़पति सीजन 13 की विजेता बनी आगरा की हिमानी बुंदेला

आगरा ब्यूरो

आगरा। खुद दृष्टिबाधित है लेकिन लोगों को राह दिखाने में अब वह एक मिशाल बन गयी है और इसके साथ ही केबीसी सीजन 13 की पहली करोड़पति भी बन गयी है। इस प्रतिभागी का नाम हिमानी बुंदेला है। केबीसी के हॉट सीट पर बैठकर हिमानी ने 15वां सवाल का जवाब देकर करोड़पति बन चुकी हैं और अब 7 करोड़ के सवाल के लिए आगे बढ़ने की तैयारी में हैं। दरअसल सोनी एनटरटेनमेंट के इंस्टाग्राम से गेम शो का एक प्रोमो जारी किया गया है जिसमें इस बात का ऐलान किया गया है कि हिमानी बुंदेला इस सीजन की पहली करोड़पति हैं। आगरा की हिमानी बुंदेला देश की पहली ऐसी प्रतिभागी हैं जो केबीसी सीजन 13 की पहली दृष्टिहीन करोड़पति हैं। हिमानी बुंदेला का एपिसोड, 30 अगस्त और 31 अगस्त-2021 की रात्रि नौ बजे सोनी चैनल पर आएगा। सोनी चैनल ने इसका प्रोमो भी जारी कर दिया है। सोनी ने हिमानी बुंदेला के ‘कौन बनेगा करोड़पति’ का प्रोमो भी सोशल मीडिया पर साझा किया है जो तेजी से ट्रेंड कर रहा है। प्रोमो में ये भी दिखाया जाता है कि अमिताभ बच्चन हिमानी से 7 करोड़ का सवाल भी पूछते हैं उसका हिमानी क्या जवाब देती हैं? और क्या वह सही जवाब देकर 7 करोड़ जीतती हैं? ये जानना काफी दिलचस्प है।

आगरा की हिमानी बुंदेला की एक हादसे ने उनकी आंखों की रोशनी भले छीन ली हों मगर हिम्मती हिमानी ने न हार मानी और न उनका हौसला टूटा। अपनी अथक और सच्ची मेहनत के बल पर पहले केंद्रीय विद्यालय में शिक्षक बनी और अब अपनी सालों की लगन, मेहनत और परिवार के सपोर्ट से ‘कौन बनेगा करोड़पति’ में बिग बी यानी अमिताभ बच्चन के सामने हॉट सीट पर बैठी उनके सवालों के जवाब दे रही हैं।

राजपुर चुंगी निवासी विजय बुंदेला की बेटी हिमानी बुंदेला दृष्टिहीन हैं मगर 30 अगस्त 2022 को कौन बनेगा करोड़पति के 13वें सीजन में हॉट सीट पर बैठकर अमिताभ बच्चन के सवालों के जवाब देगीं। हिमानी बुंदेला के परिवार में पिता विजय सिंह बुंदेला, मां सरोज बुंदेला, बहन चेतना सिंह बुंदेला, भावना बुंदेला, पूजा बुंदेला और भाई रोहित सिंह बुंदेला हैं। हिमानी का कहना है कि ऑडियो कंटेंट सुनकर तैयारी की। कौन बनेगा करोड़पति की रियलिटी शो में हॉट सीट तक का सफर माता-पिता और भाई-बहन के सपोर्ट से पूरा हो सका है।

केबीसी से फोन आने पर नही हुआ था विश्वास-

विजय बुंदेला ने बताया कि, बेटी हिमानी बुंदेला चार-पांच साल से केबीसी में पंजीकरण कर रही थी मगर, उसे सफलता नहीं मिल रही थी। अप्रैल-मई 2021 में अचानक केबीसी से एक फोन आया तो उन्हें एक बार को विश्वास ही नहीं हुआ लेकिन जब दो तीन बार फोन आया तो बातचीत हुई तो विश्वास हुआ कि बेटी हिमानी का केबीसी के लिए सिलेक्शन हो गया है।

जब हिमानी के साथ हुआ एक हादसा

हिमानी के पिता विजय बुंदेला ने बताया कि, बेटी हिमानी ने 2010 में 84% अंको के साथ दसवीं किया था। मगर, 2011 में एक दिन घर लौटते समय बाइक सवार ने उनकी साइकिल में टक्कर मारी दी जिससे वह सड़क पर गिर गईं। इस टक्कर में हिमानी की आंखों में गहरी चोट लगी। चिकित्सकों ने बताया कि रेटिना खराब हो गई है।

पिता ने भावुक होते हुए बताया कि चेन्नई तक इलाज कराया लेकिन, हिमानी की आंखों की रोशनी वापस नहीं लौटी। मगर हौसला हो तो आसमान में भी सुराख हो सकता है, हिमानी बुंदेला ने एक बार फिर 70% अंकों के साथ बारहवीं पास की। उसके बाद लखनऊ से डॉ. शकुंतला मिश्रा रिहेबिलिटेशन यूनिवर्सिटी में डीएड के लिए दाखिला लिया। डीएड के बाद बीए किया। सन् 2017 में हिमानी बुंदेला का सिलेक्शन केंद्रीय विद्यालय प्राइमरी शिक्षक के रूप में हो गया। हिमानी बुंदेला को पहली पोस्टिंग बलरामपुर के केंद्रीय विद्यालय में मिली। यहां से फिर 2019 में हिमानी बुंदेला का ट्रांसफर आगरा के केंद्रीय विद्यालय नंबर एक में हो गया है तभी से वह यहां पर पढ़ा रही हैं।

 

सपना हुआ पूरा –

 

वहीं हिमानी बुंदेला ने बताया कि शुरू से ही उन्हें टीवी पर आने का शौक था। जब दसवीं में पहुंची तो अपनी सहेलियों के साथ क्विज कंपटीशन खेलती थीं। जब केबीसी देखा तो केबीसी में हॉट सीट पर बैठने का सपना देखने लगी लेकिन, तभी हुए एक हादसे ने सब कुछ बदल कर रख दिया लेकिन, मैंने अपनी तैयारी में कोई कमी नहीं रखी। मैं ऑडियो सुनकर अपना जीके बेहतर करती रही। परिवार से भी मुझे खूब सपोर्ट मिला क्योंकि, जब भी मैं लगातार ऑडियो कंटेंट सुनकर थक जाती थी तो मेरा भाई और बहन मुझे किताबें पढ़कर सुनाते थे। कौन बनेगा करोड़पति की तर्ज पर मैंने केंद्रीय विद्यालय में नौकरी लगने पर कौन बनेगा केंद्रीय विद्यालय चैंपियन नाम से क्विज काम्पटीशन शुरू किया। इस नाम से मैं सोशल मीडिया पर भी एक्टिव हूं जिसमें मैं अपने बनाए हुए वीडियो शेयर करती हूं।