Breaking News इटावा उतरप्रदेश करियर & जॉब

दिव्यांग यूनिक आईडी बनवा कर, घर बैठे ही रेलवे / बस यात्रा में रिजर्वेशन करे

मनोज कुमार राजौरिया इटावा :  रेलवे में रिजर्वेशन टिकट में छूट के के लिए दिव्यांगों को बुकिंग विंडो तक जाने की जरूर नहीं पड़ेगी। अगर वे दिव्यांग यूनिक आईडी बनवा लें।

ये आईडी फार्म के साथ अपने सभी कागजात देकर बनवाई जा सकती है। जिले में अभी तक एक सैकड़ा दिव्यांगों ने ही यूनिक आईडी बनवाई है। आवेदन जरूर तीन हजार से अधिक लोग कर चुके हैं।
दिव्यांग कल्याण विभाग के आंकड़ों के अनुसार जिले में 31000 दिव्यांग हैं। इनमें केवल 10465 ने ही सीएमओ कार्यालय से दिव्यांगता प्रमाणपत्र बनवाया है। 11050 दिव्यांग पेंशन का लाभ ले रहे हैं। पेंशन गरीब दिव्यांगों को ही दी जाती है, लेकिन रेल यात्रा में किराये में छूट का लाभ सीएमओ कार्यालय से प्रमाणपत्र बनवाने वाले सभी दिव्यांग ले सकते हैं। वैसे दिव्यांगों को रिजर्वेशन में छूट के लिए बुकिंग खिड़की पर दिव्यांग प्रमाणपत्र लेकर जाना पड़ता है, लेकिन अगर उनके पास यूनिक आडी है तो अपने मोबाइल फोन से भी रेलवे टिकट में छूट का लाभ ले सकते हैं। जिले में अभी तक करीब एक सैकड़ा दिव्यांगों ने ही यूनिक आईडी बनवाई है। 3000 दिव्यांगों ने आवेदन किया है, जिनका सत्यापन सीएमओ कार्यालय से पूरा हो चुका है। रोडवेज बस में यात्रा की यूनिक आईडी के लिए 6244 दिव्यांगों के आवेदन सीएमओ कार्यालय से स्वीकृत हो चुके हैं।
कानपुर में जमा होते हैं यूनिक आईडी फार्म
इटावा स्टेशन मुख्य वाणिज्य निरीक्षक नरेश मीना ने यूनिक आईडी के लिए दिव्यांगों को उत्तर मध्य रेलवे के उप मुख्य यातायात प्रबंधक के कानपुर कार्यालय में आवेदन करना होता है। आवेदन कोरियर या रजिस्टर्ड डाक से भी भेजे जा सकते हैं। वहां से इटावा स्टेशन मुख्य वाणिज्य निरीक्षक के पास आते हैं। मुख्य वाणिज्य निरीक्षक सत्यापन के लिए सीएमओ कार्यालय भेजते हैं। सत्यापन डीटीएम टूंडला की रिपोर्ट लगती फिर कानपुर से यूनिक आईडी जारी की जाती है। नरेश मीणा ने बताया कि प्रक्रिया पूरी होने में लगभग तीन से चार माह तक लग जाते हैं। यूनिक आईडी दिव्यांग को लेने के लिए ओरिजनल कागजात के साथ कानपुर कार्यालय जाना अनिवार्य है। 35 वर्ष की आयु तक प्रत्येक तीन वर्ष में नवीनीकरण भी कराना होगा।
ये कागजात जरूरी हैं यूनिक आईडी के लिए
●सीएमओ कार्यालय से जारी दिव्यांगता प्रमाणपत्र, ●आधारकार्ड,
●दो फोटो।
बस में यात्रा के लिए विकास भवन में जमा करें आवेदन
इटावा डिपो के एआरएम राजीव शर्मा ने बताया कि रोडवेज की बसों में 80 प्रतिशत दिव्यांगों को ही निशुल्क यात्रा कराई जाती है। इसके लिए अब यूनिक आईडी जरूरी कर दी गई है। यूनिक आईडी के लिए दिव्यांग विकास भवन के कक्ष संख्या 38 में आवेदन जमा कर सकते हैं।

_*तीन माह से नहीं हुई बैठक*_
जिला विकलांग एसोसिएशन के जिलाध्यक्ष अशोक कुमार जाटव ने आरोप लगाया कि दस माह से दिव्यांग बंधु की बैठक नहीं हुई है। बैठक प्रत्येक तीन महीने में होनी चाहिए। ये बैठक दिव्यांगों की समस्याओं के निराकरण के लिए होती है। एसोसिएशन के मंत्री संतोष त्रिवेदी ने आरोप लगाया कि दिव्यांगों के प्रमाणपत्र बनाने में भी लापरवाही बरती जा रही है। एसोसिएशन के संरक्षक ओम प्रकाश गुप्त ने दिव्यांग समस्याएं एसोसिएशन के पक्काबाग स्थिति कार्यालय में दोपहर 11 से 2 बजे तक बता सकते हैं।