Sapno Ko-jayamohan Prayagraj Uttar Pradesh
कुंदरकी

सपनों को

सपनो को।।।। मैं उन्मुक्त आकाश छूना चाहती मेरे अरमानो को उड़ने दो देखा जो सतरंगी सपना मैंने उसको पूरा होने दो मैं अबला नही सबला हूँ मुझे उन्नति शिखर पर चढ़ने दो तुमने छला मुझे हर युग मे पहनाई पराधीनता की बेड़ी पिता ,पति,पुत्र के सदा मैं आधीन रही तुम सबकी में छाया बनी पर […]

उतरप्रदेश कुंदरकी

कजरिया देखन न आयो ननदी फैलो है कॅरोना

  जया मोहन :  प्रयागराज उत्तर प्रदेश कजरिया देखन न आयो ननदी फैलो है कॅरोना भैया बुलाये चाहे भैया बुलाये फोन से लेना सबसे बतियाये कोनऊ कहे से न आयो ननदी फैलो।।।।। दिन दिन जा कॅरोना बढ़े सुरसा जैसा मुँह फैलाये लॉक डाउन लगो है ननदी फैलो ।।। अपनी दुकान न खुलत है बहिनी बन्द […]

करियर & जॉब कुंदरकी देश

लॉकडाउन की पीड़ा : कहानी

  सुनील पांडेय :  कार्यकारी संपादक हीरा अपने गांव रामगंज का सबसे बलिष्ठ लड़का था। जैसे उसका नाम हीरा था वैसे काम करने में भी हीरा था। घर की स्थिति अच्छी ना होने के कारण हीरा केवल तीसरी क्लास तक पढ़ पाया था। चौथी क्लास की फीस उसके मां-बाप नहीं दे पाए जिसके चलते उसका […]

कुंदरकी खाना खजाना त्वरित टिप्पड़ी

भूख न मिट सकी उसकी सूखे नैनो के नीर

  भूख न मिट सकी उसकी सूखे नैनो के नीर नन्हा भूखा बिलख रहा मिली न उसको रोटी बहलाने को माँ ने उसके मुँह दी अपनी फ़टी धोती आँखो में भय है समाया कोई न उसको छीने बेबस हो कर चूस रहा बेचारा वो धोती कहां लोग कुत्ते को खिलाते मक्खन पाव रोटी यहाँ एक […]

Breaking News आर्टिकल कुंदरकी देश

मदर्स डे पर सोशल मीडिया पर कुछ यूं दिखा मां के लिए प्यार

  रिषीपाल सिंह :  देश दुनिया आज संपूर्ण देश में मदर्स डे बड़े ही हर्षोल्लास के साथ मनाया जा रहा है भारत और कनाडा में भी अमेरिका की तर्ज पर मदर्स डे मई महीने के दूसरे रविवार को मनाया जाता है यूरोप के कई देशों में इसे मदरिंग डे के रुप में मनाया जाता है […]

कुंदरकी विधि जगत

कहानी : मुट्ठी भर खुशी

  मुट्ठी भर खुशी  : जयमोहन प्रयागराज भोर की किरण फूट रही थी ।रघु चादर ताने सो रहा था।बुधिया ने गुहारा दिन चढ़ गाओ काम पे नई जाने का।ऊँ ऊँ ऊँ कर करवट बदल रघु सोता रहा ।उठो घाम होरहो है। अरी ते जाने आज से काम पे नई जाने काहे की सरकार ने पूरो […]

आर्टिकल कुंदरकी

नम्रता : चल पड़ी मैं दैनिक क्रिया से निर्वित्त होने

  नम्रता : वरिष्ठ रचनाकार जया मोहन प्रयागराज एक सीधी सादी अपने मे खोई हुई। खुद अपनी सुंदरता से अनजान अल्हड़ सहमी हिरनी सी मैं बात कर रही हूं अपने पड़ोस में आई एक लड़की की मेरे मन मे उसकी यही छवि थी। मैं कहती माँ बाप के रखे नाम जैसे गुण है।कितनी विन्रम मितभाषी।मुझसे […]

करियर & जॉब कुंदरकी सम्पादकीय

कहानी : दो रोटी

दो रोटी (कहानी : )  सुनील पांडे की कलम से जिंदगी की आपाधापी में एक मध्यम वर्ग का नौजवान जो यूपी के सुल्तानपुर जनपद से बिलॉन्ग करता है। रोजी-रोटी के जुगाड़ में यूपी से नोएडा आता है ,जहां एक फैक्ट्री में काम करने लगता है। पैसा कमाने की लत कहें या जरूरत जो भी हो […]

कुंदरकी तीर ए नज़र देश स्वास्थ्य एवं विधि जगत

यादो का गलियारा

  आज देश ने स्व्यं को नियंत्रित किया। कॅरोना नाम के वायरस से बचाव के लिए खुद पर कर्फ्यू लगाया आज की नीरव शांति ने मन को अतीत के गलियारे में पहुँचा दिया। आप धापी की ज़िंदगी मे बेहद शांति । पहले पक्षियों का कलरव,कोयल की कूक मन को हर्षित करती थी। आधुनिक होने पर […]

कुंदरकी

कुंदरकी: मदर्स डे पर सैफी सोसाइटी ने मातृत्व के महत्व पर डाला प्रकाश

कुंदरकी (मुरादाबाद) कुंदरकी में मदर्स डे काफी विशेष रहा। इस मौके पर सैफी सोसाइटी ने मातृत्व के कई महत्वों पर प्रकाश डालकर जीवन भर मां के द्वारा दिये जाने वाले त्याग के बारे में बताया। सोसाइटी के अध्यक्ष एम के भारती सैफी ने इस अवसर पर कहा कि माँ की ममता अनमोल होती है। वो […]