Breaking News अध्यात्म इटावा उतरप्रदेश

21फरबरी से सिरहौल में शुरू होगा अश्वमेघ यज्ञ, (10माह तक) 21 नवंबर 2020 को अश्व पूजन

संवाददाता मनोज कुमार राजौरिया इटावा : राष्ट्रीय प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने कहा कि आधुनिकता की चकाचौंध में हमें अपनी संस्कृति, सभ्यता व संस्कारों को दरकिनार नहीं करना चाहिए। वर्तमान समय में हम शिष्टाचार, नैतिकता को भूलते जा रहे हैं। वह विश्व महायज्ञ अश्वमेध की घोषणा कार्यक्रम में बोल रहे थे।

सिरहौल गांव में कार्यक्रम संयोजक राजा जुगेन्द्र प्रताप सिंह जूदेव ने राष्ट्र के सर्वांगीण विकास के लिए विश्वमहा अश्वमेघ यज्ञ का आयोजन करने की घोषणा। कार्यक्रम में 21 फरवरी से यज्ञ शुरू होगा और 21 नबंवर अश्व पूजन होगा। इसमें शामिल हुए प्रगतिशील समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व क्षेत्रीय विधायक शिवपाल सिंह यादव ने अपने सम्बोधन में कहा कि राजा जूदेव द्वारा किए जा रहे कार्यक्रम की जितनी सराहना की जाए कम है ये पुरानी व सामाजिक परम्पराएं हैं इन्हें आज के लोग भूलते जा रहे हैं। इस लिए देश व समाज में विभिन्न दुश्वारियां सामने आ रही हैं। जीवन में शिष्टाचार व नैतिकता हमारे जीवन में बहुत अहम हैं। किसी भी विषय को ले लें, हम अपनी युवा पीढ़ी पर पूरा दोष डालकर अपना पल्ला झाड़ लेते हैं। सवाल यह नहीं कि आज की युवा पीढ़ी में नैतिकता व शिष्टाचार की कमी हो रही है। क्या सारी गलती युवा पीढ़ी की ही है, मुझे नहीं लगता कि आज की युवा पीढ़ी सौ प्रतिशत गलत है। आज उनमें संस्कारों की कमी अगर हो रही है तो उसकी वजह सिर्फ और सिर्फ हम ही हैं। क्यों हम उनमें संस्कार नैतिकता शिष्टाचार नहीं भर पा रहे हैं। यह एक सोचने का विषय है। बच्चों का अनैतिक होना हमारी कमजोरी है। हम बच्चों को जिस प्रकार के संस्कार व शिक्षा देंगे उसी राह पर वह आगे बढेंगे। कार्यक्रम की अध्यक्षता राम प्रताप सिंह ने की और संचालन अमोल सिंह ने किया।