Breaking News अपराध आगरा उतरप्रदेश

दुकान के विवाद में पुत्र ने अपने दोनों वेटों के साथ मिलकर अपने माता पिता पर कुल्हाडी से हमला बोलकर पिता का कत्ल, गांव में पसरा सन्नाटा

संवाददाता रनवीर सिंह : रिश्तों का कत्ल,संपत्ति के विवाद में पुत्र ने अपने वेटों के साथ मिलकर की पिता की कुल्हाड़ी से काटकर हत्या। आज के दौर में रिश्तों का खून पानी होता जा रहा है। संपत्ति के लिए अपने ही अपनो के खून के प्यासे होते जा रहे हैं। शनिवार की दोपहर बाह के पुरा जसोल में दुकान के विवाद में पुत्र ने अपने दोनों वेटों के साथ मिलकर अपने माता पिता पर कुल्हाडी से हमला बोलकर पिता का कत्ल कर दिया। जबकि मां को पुलिस ने गंभीर हालत में सीएचसी बाह पर भर्ती कराया जहां से गंभीर हालत में हायर सेंटर रेफर कर दिया। पुरा जसोल गांव के 70 साल के डालचन्द्र पुरवंशी अपनी 68 साल की पत्नी रामकली के साथ रह रहे थे। उनका बडे बेटे राम शंकर से दुकान खाली कराने को लेकर विवाद चल रहा था। राम शंकर ने शनिवार की सुबह दुकान खाली भी कर दी।दुकान खाली कराये जाने से बौखलाया राम शंकर अपने वेटों अमित और अजीत के साथ शाम साढे तीन बजे लाठी, डण्डे और कुल्हाड़ी से लैस होकर घर में घुस गये। कुल्हाडी से कई वार कर डालचन्द्र पुरवंशी की गर्दन काट कर हत्या कर दी। वहीं पर मौजूद मां रामकली के सिर पर भी कुल्हाडी से प्रहार कर दिये। वह जान बचाकर चीख पुकार मचाती हुई भागी , मौके पर पास पडौस के लोग पहुंच गये। यह देख हमलावर मौके से भाग निकले। सूचना पर पहुंची बाह पुलिस ने घायल राम कली को एम्बुलेंस के जरिये सीएचसी बाह पर भर्ती कराया था। जहां से एसएन आगरा भेज दिया गया। मृतक के शव को कब्जे में लेकर पोस्ट मार्टम के लिए भेज दिया है।

दूसरे बेटे कुलवीर सिंह की तहरीर पर बाह पुलिस ने राम शंकर और उसके पुत्रों अमित, अजीत के खिलाफ हत्या का केस दर्ज कर लिया है। आरोपियों की तलाश में दविश दी है। मौके पर पहुंचे एसपी क्राइम राजेश सोनकर, सीओ बाह रितेश कुमार सिंह ने भी अपने की। चार दिन पहले भी की थी मारपीट, पुलिस ने किया था शांति भंग में चालान  ।

डालचन्द्र पुरवंशी का कुछ दिन पूर्व भी दुकान खाली कराने को लेकर विवाद हुआ था।, विवाद में मारपीट हो गई थी। जिसकी शिकायत रामकली ने पुलिस से की थी। पुलिस ने डालचन्द्र पुरवंशी , राम शंकर, अजीत, अमित को मौके से पकडा था। दुकान खाली करने की हामी भरे जाने पर उनमें समझौता हो गया था। इसीलिए पुलिस ने चारों का शांति भंग में चालान किया था। समझौते के मुताबिक राम शंकर ने दुकान खाली भी कर दी थी।

हत्या के कारण फरेरा गांव जसोल पुरा की गलियों में फैला सन्ना टा आरोपी के घर मे लटका ताला।जिले के कप्तान बबलू कुमार और अन्य अधिकारियों ने गांव के लोगों से जाकर मौके पर पहुंच कर ली जान कारी । भय के चलते ग्रामीण घर मे कैद।