आगरा उतरप्रदेश त्वरित टिप्पड़ी

कुर्सी पर बैठने पर सवर्णों ने की दलित की पिटाई

संवाददाता रनवीर सिंह : कुर्सी पर बैठने पर सवर्णों ने की दलित की पिटाई । जी हाँ आजादी की सत्तर साल बाद भी नहीं है दलितों को कुर्सी पर बैठने का अधिकार । ऐसा ही मामला दिनांक 11/10/2019 को गाँव महगोली पिनाहट आगरा में देखने को मिला , जहाँ राम विहारी पुत्र स्वर्गीय दीप चंद सुबह 9 बजे अपने दरबाजे पर बैठा था । तभी गाँव के ही ओम नरेश तौमर एंव प्रमोद पंडित अपने एक अन्य साथी के साथ वहाँ से निकले । जैसे ही उन्होने दलित राम

विहारी को अपने सामने कुर्सी पर बैठा देखा तो आग बबूला हो गए औऱ जातीय सूचक शब्दों के साथ माँ बहिन की गालियां दीं औऱ बोले कहा कि तेरी इतनी हिम्मत हमारे सामने कुर्सी पर बैठेगा । जब राम विहारी ने प्रति उत्तर में कहा कि मेरा दरवाजा , मेरी कुर्सी इसमें आपको कौनसी दिक्कत है । इसी बात पर उक्त तीनों ने राम विहारी लात घूसो तथा डंडों की पिटाई सुरु करदी । उसे पिटता देख उसके बहनोई बचाने आए तो उनको भी पीटा औऱ कहा कि साले चमारों आगे ऐसी हरक़त की तो जान से मार देंगे । बताते चलें कि राम विहारी सुरक्षित सीट से वर्ष 2005-2010 में अपने यहाँ से ग्राम प्रधान भी रहा है । अब सोचना इस बात का है कि जब राम विहारी जैसे लोगों के साथ ऐसा व्यवहार होता है तो अन्य लोगों की क्या स्तिथि होगी अन्दाज लगाया जा सकता है । राम बिहारी औऱ उसके परिवार ने उक्त दबंगों के भय से गाँव छोड़ दिया है औऱ छुपते हुए अपनी जान बचाकर रह रहा है । इस की शिकायत उसने सम्बंधित पुलिस थाने में भी की लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नहीं हूई है ।