Breaking News आगरा उतरप्रदेश देश पर्यटन

उत्तर भारत के प्रसिद्ध बटेश्वर मेले में सजा अद्भुत घोड़ों और ऊंटों का बाजार, घोड़ों व्यापारियों में मारपीट की घटना

संवाददाता रनवीर सिंह : बटेश्वर।उत्तर भारत का सुप्रसिध्द सुविख्यात पशु मेला में एक से एक नकुली मनमोहक सुंदर घोड़ी मेले आचुकी है। व्यापारी भी अच्छी से अच्छी घोड़ी खरीद ने के लिए बटेश्वर आकर डेरा डाल लिया है। हरसाल की तरहा घोड़ा व्यापारी

उस्मान अली 50 घोडे एकसे बढ़ कर एक कीमत के घोड़े बटेश्वर मेले में आचुके है। उधर राजस्थानी कहे जाने वाले जहाज ऊंटों का भी बाजार भरने लगा है।मेले में बरातूला नामक ऊँट भी जोधपुर राजस्थान से

बटेश्वर पशु मेले में आ चुके हैं। ऊंट व्यापारी पन्नाल निवासी चित्तौड़ गढ़ से ऊंट लेकर पहुंचे है।

उधर घोड़ा बाजार में घोड़ा व्यापिरियों में हुई मारपीट । अशलम कादर घोड़ा व्यापारी ने अपने परिचित

घोड़ा व्यापारी उस्मान खां से उधार 3 लाख रुपये में लिया था कुछ रुपये दे दिये थे एक वर्ष बाद उधार लेकर गया घोड़ा व्यापारी अशलम कादर बटेश्वर मेले में बेचने को लाया था अकस्मात उस्मान ने व्यापारी को पहिचान कर घोड़ा शहीत पकड़ कर अपना घोड़ा वापिस छीन कर अपने साथ लेजाने लगा अकेला देख उस्मान को अशलम के साथी उसको गाली गलौज कर मारने को तैयार होगये।ओर घोड़ा छीन कर ले जाने लगे वहां पर मौजूद घोड़ा व्यापारी यों ने जब देखा तो सभी इक्कठे होकर उसके साथ हो गये और सभी ने उधार लिया घोड़ा व्यापारी ओर दोनों की बात सुनकर सभी ने फैसला सुनाकर बाकी रुपये थे वो दिलवाये हंगामा देख व्यापारियों की भीड़ इक्कठी हो गई मामला बढ़ते देख सभी ने शांत कराया।मेले में उधार लिया घोड़े को देखते भीड़। बटेश्वर में बेलतरा नामक ऊंट व्यापारी पन्नाल लेकर पहुंचे। इस ऊंट की खासियत रेत में बजन रख तेज दौड़ता है।

सुविख्यात उत्तर भारत का प्रसिद्ध पशु मेला वर्षो पुरानी बनी बिल्डिंग से ही पहिचान माल गेदाम कार्यालय बटेश्वर मेला प्रसिद्ध है।