Breaking News उतरप्रदेश त्वरित टिप्पड़ी प्रतापगढ़

इंडियन लायर्स एसोसिएशन की टीम और बहुजन मुक्ति पार्टी के जिला अध्यक्ष हरिकेश गौतम बहुजन मूलनिवासी को जेल से बाहर निकालने का प्रयास

संवाददाता गुलाब चंद्र गौतम :  प्रतापगढ़ में जेल से बाहर बहुजन मूलनिवासी शेर आए दिल से सैल्यूट ऐसे क्रांतिकारी मूलनिवासी के समर्थन में इंडियन  एसोसिएशन की टीम को और बहुजन मुक्ति पार्टी के जिला अध्यक्ष माननीय हरिकेश गौतम जी को जिन्होंने इन बहुजन मूलनिवासी शेरों को फ्री में जेल से बाहर निकालने का काम किया और फ्री में मुकदमा भी लड़ा जाएगा।

1-29 जनवरी2020 को  CAA,NRC,EVM  के विरोध में , 2-DNA के आधार पर NRC  के समर्थन में ,
3- 2021 में OBC की  जाति आधारित गिनती न करने के विरोध में ,
4- SC/ST को 2020 में राजनैतिक आरक्षण बिना सहमति लिए बढ़ाने के विरोध में बहुजन क्रांति मोर्चा  के द्वारा किए गए भारत बंद के आह्वान पर प्रतापगढ उ0प्र0 जिले 04 जगहों पर शाँति पूर्वक भारत बंद का आन्दोलन चल रहा था।जिसमें एक स्थान पर तहसील कुंडा में शांति पूर्वक आंदोलन को विफल करने के लिए मनुवादियो द्वारा पुलिस द्वारा लाठी चार्ज किए गए जिसमें 29 लोगों को वापस घर जाते समय कुंडा से 5 किलोमीटर दूर गाड़ी सहित गिरफ्तार किए गए थे। जिसमें से 26 लोगों को 7 फरवरी 2020 को सुबह 7:00 बजे 09दिन बाद जिला जेल प्रतापगढ उ0प्र0 से रिहा किया गया और अभी 02 नाबालिग लोगों को रिहा करने की प्रक्रिया चल रही है जिसमें से रिहा हुए लोगों के नाम
1-आकाश गौतम
2- आसाराम
3- रामानंद
4-सूरज कुमार गुप्ता
5-अरविंद सरोज
6-रंजीत कुमार गौतम
7- सूर्य प्रताप सरोज
8-मोदी लाल गुप्ता
9- रवि गौतम
10-मगदूम
11-सांभा
12-रामखेलावन गौतम
13-अब्दुल सत्तार
14-दानिश
15- रियाजुल हुडा
16-अनवर हुसैन
17-जैद अंसारी
18-मोहम्मद जैद अंसारी
19-मोहम्मद अजमत खान
20-अफजल हुसैन
21-अबरार अहमद
22- इसरार अहमद
23-नसीरुद्दीन
24-मोहम्मद शहजादे
25-नजम हसन
26-रियाज अहमद
लोगों को जेल से बाहर निकलने के बाद बहुजन क्रांति मोर्चा और बहुजन मुक्ति पार्टी के कार्यकर्ताओं द्वारा फूल माला से स्वागत कर गाजे बाजे के साथ जेल से अंबेडकर चौक तक लगभग तीन किलोमीटर शोभा

यात्रा निकाली गयी और बाबा साहब डा0 भीम राव अम्बेडकर जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण करके आगे डेरवा बाजार की ओर काफ़िला अग्रसर हो गया जहाँ डेरवा बाजार में हजारों की संख्या में बहुजन

मूलनिवासी लोग इन क्रांतिकारी शेरों के स्वागत में पलकें बिछाये प्रतिक्षा कर रहे हैं ।इस मौके पर वहां बहुत बड़ी संख्या में मूल निवासियों का उमड़ा जनसैलाब।