आगरा

आगरा: श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ में बही भक्ति की धारा

आगरा: मारुति सिटी शमशाबाद रोड स्थित गायत्री सिग्नेचर पार्क में मंगलवार को श्रीमद भागवत कथा ज्ञान यज्ञ के दूसरे दिन ग्यासपीठ पर विराजमान कथा व्यास पंडित गरिमा किशोरी जी (राधा माधव गुरुकुल) ने शुखदेव जी के जन्मदिन की कथा बताते हुए गुरुदेव की महिमा का वर्णन किया। श्रीमद्भागवत अत्यंत गोपनीय रहस्यात्मक पुराण है। यह भगवत्स्वरूप का अनुभव कराने वाला और समस्त वेदों का सार है। संसार में फंसे हुए जो लोग इस घोर अज्ञानान्धकार से पार जाना चाहते हैं उनके लिए आध्यात्मिक तत्वों को प्रकाशित कराने वाला यह एक अद्वितीय दीपक है। भागवत क्या है? भागवत वैष्णवों का परम धन, पुराणों का तिलक, परम हंसों की संहिता, भक्ति ज्ञान-वैराग्य का प्रवाह (प्याऊ), भगवान् श्रीकृष्ण का आनंदमय स्वरूप, प्रेमी भक्तों की लीला स्थली, श्री राधा-कृष्ण का अद्वितीय निवास स्थान, जगत का आधार, लोक-परलोक को संवारने वाला, जगत् व्यवहार व परमार्थ का ज्ञान कराने वाला, वेदों उपनिषदों का अद्वितीय सार (रस), व्यक्ति को शांति तथा समाज को क्रांति का प्रतीक तथा पंचम वेद है। जहां भगवान के नाम नियमित रूप से लिया जाता है। वहां सुख, समृद्धि व शांति बनी रहती है। जीवन को कर्मशील बनाना है तो श्रीमदभागवत कथा का श्रवण करें। यह जीवन जीने की कला सीखाती है।

ये रहे मौजूद….

इस मौके पर रेखा गोस्वामी, चांदनी भोजवानी, पवन शर्मा, अनुज जैन, अशोक ठाकुर, एन सी दत्ता, नरेश राजावत, सचिन कपूर, संजू बंसल, हरगोविंद शर्मा, गौरव गुप्ता, मैदान धाकरे सहित कई मौजूद रहे।